केजरीवाल का चन्नी पर पलटवार, कहा- सांवले रंग का व्यक्ति झूठे वादे नहीं करता

0
8

केजरीवाल का चन्नी पर पलटवार, कहा- सांवले रंग का व्यक्ति झूठे वादे नहीं करता

चंडीगढ़, दो दिसंबर (भाषा) दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ”काले अंग्रेज” वाले बयान पर बृहस्पतिवार को पंजाब के अपने समकक्ष चरणजीत सिंह चन्नी पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका रंग सांवला हो सकता है, लेकिन नीयत बिल्कुल साफ है और वह झूठे वादे नहीं करते।

पंजाब के मुख्यमंत्री ने बुधवार को आम आदमी पार्टी (आप) को 2022 के राज्य विधानसभा चुनाव जीतने की जुगत में लगी “काले अंग्रेज” की पार्टी करार दिया था। इस पर केजरीवाल ने कहा कि भले ही उनकी त्वचा का रंग सांवला है, लेकिन उनकी नीयत साफ है।

पंजाब में 2022 के आरंभ में विधानसभा चुनाव होने हैं।

अमृतसर से पठानकोट जाते समय आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने पत्रकारों से कहा, ”मैं उन्हें (कांग्रेस से) कहना चाहता हूं कि एक बार जब हमारी सरकार सत्ता में आ जाएगी तो साधारण कपड़े पहने वाला, और जिसका रंग सांवला है, वह सभी वादे पूरे करेगा। मैं झूठी घोषणाएं या झूठे वादे नहीं करता।”

केजरीवाल बृहस्पतिवार को पठानकोट में होंगे और वहां ‘तिरंगा यात्रा’ का नेतृत्व करेंगे।

आप और पंजाब कांग्रेस के बीच चल रही बयानबाजी के बीच, चन्नी ने पंजाब के मोगा जिले के बधनी कलां में एक सभा को संबोधित करते हुए “काले अंग्रेज” वाला बयान दिया था।

आप की ओर इशारा करते हुए चन्नी ने कहा कि ‘चिट्टे अंग्रेजों’ (ब्रिटिश) को देश से बाहर किए जाने के बाद कि ये ‘काले अंग्रेज’ पंजाब पर कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं।

केजरीवाल ने कहा, ”कल, उन्होंने (चन्नी) मुझे कहा कि मैं ‘काला’ (सांवले रंग का) हूं। मैं मानता हूं कि मेरा रंग सांवला है। मैं हर गांव का दौरा करता हूं और तेज धूप में बाहर निकलने पर मेरी त्वचा सांवली हो गई है। मैं उनकी तरह हेलीकॉप्टर में यात्रा नहीं करता … मेरी माताओं और बहनों को यह ‘काला भाई’ (सांवला भाई) पसंद है। हर कोई जानता है कि मेरी मंशा साफ है, और हर कोई जानता है कि किसकी मंशा खराब है।”

उन्होंने पंजाब में आप के सत्ता में आने पर राज्य की महिलाओं को एक एक हजार रुपये देने के अपने वादे का मुख्यमंत्री द्वारा मजाक उड़ाए जाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा ‘‘मैं चन्नी साहब की बहुत इज्जत करता हूं। लेकिन जब से मैंने घोषणा की कि आप के पंजाब में सत्ता में आने के बाद वहां की महिलाओं को एक एक हजार रुपये दिए जाएंगे, तब से वह मजाक उड़ा रहे हैं। कुछ दिन पहले उन्होंने मुझे सादे कपड़े पहने के लिए ताना मारा। लेकिन मैं उनसे कहना चाहता हूं कि मुझे इससे कोई परेशानी नहीं है।’’

उन्होंने कहा ‘‘जब हम महिलाओं को एक एक हजार रुपये देंगे तब हम अपनी माताओं और बहनों को खुद के लिए नए सूट खरीदते देख खुश होंगे।’’

पंजाब की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Punjab News