Friday, August 14, 2020
Home Breaking News Hindi क्या Asymptomatic में कोरोना का खतरा कम?

क्या Asymptomatic में कोरोना का खतरा कम?

- Advertisement -

चीन से निकला यह घातक कोरोना वायरस ने काफी तेज़ी से दुनिया भर में अपना केहर ढाह रहा है। दुनियाभर में कोरोना के संक्रमण का मामला 70 से भी अधिक जा पहुंचा है। दुनियभर में कोरोना के खिलाफ जंग जारी है लेकिन इस नए वायरस के बारे में हर एक दिन कुछ नई रिसर्च सामने आरही है। आपको बताना चाहेंगे की कोरोना वायरस के संक्रमितों में बड़ी संख्या में ऐसे मरीज भी हैं जो एसिमटोमेटिक हैं यानी इन मरीजों में कोरोना के लक्षण ही नहीं देखते जाते लेकिन ये वायरस से संक्रमित होते हैं। जैसे की कोरोना की लक्षण की बात करे तो खासी , तेज बुखार , सांस लेने में दिक्कत जैसी परेशानिया आती है लेकिन एसिमटोमेटिक में ऐसे कोई लक्षण देखने को नहीं मिलते और फिर भी वो कोरोना से संक्रमित होते हैं।

लेकिन WHO (वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन) द्वारा इस सन्दर्भ में एक राहत की खबर आयी है। WHO की एक ऑफिसर मारिया वैन करखोव ने जेनेवा में सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी जानकारी दी है की कोरोना वायरस के बिना लक्षण वाले मरीजों से संक्रमण फैलने का खतरा कम होता है। एसिम्प्टोमैटिक रोगी के संपर्क में आने से वायरस के ट्रांसमिशन का खतरा कम होता है।

यह भी पढ़ें: क्या दिल्ली में कोरोना संक्रमण का कम्युनिटी ट्रांसफर होने लगा है?

कोरोना के मामले दिन प्रति दिन बेकाबू होते जा रहे है। इस घातक वायरस की वैक्सीन पर काम चल रहा है। ऐसे भी आसार देखे जा रहे है की सितम्बर तक कोरोना का असर कम हो सकता है। फिलाल इस वायरस से खुद को सुरक्षित रखने का एक मात्र उपाय सोशल डिस्टन्सिंग ही है।

- Advertisement -
- Advertisment -

Most Popular

India welcomes UAE-Israel deal on normalisation of ties

India has welcomed the deal between Israel and UAE on the...

इस वजह से टूट गए थे Shammi Kapoor, इन दो शख्स के कारण हुए थे धार्मिक

नई दिल्ली: बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता शम्मी कपूर (Shammi Kapoor) की पुण्यतिथि पर उनके चाहने वालों के लिए ये जानकारी काफी दिलचस्प होगी....

एक्सीडेंट के बाद थी बिस्तर पर लड़की, सोनू सूद ने की मदद तो फिर बढ़ाया कदम

नई दिल्ली: 22 साल की एक लड़की की जिंदगी बिस्तर पर पड़े रहकर ही कट रही थी क्योंकि एक दुर्घटना का शिकार होने...