Friday, August 14, 2020
Home Breaking News Hindi गुरुकुल में दाखिले के 15 दिनों बाद ही 14 वर्षीय छात्रा की...

गुरुकुल में दाखिले के 15 दिनों बाद ही 14 वर्षीय छात्रा की फंदे पर लटकी मिली लाश, जानें पूरा मामला

- Advertisement -


नोएडा: उत्तर प्रदेश के नोएडा (Noida) जिले में स्थित एक गुरुकुल (Gurukul) पर मृतक छात्रा के परिजनों ने अपनी बेटी के साथ अनहोनी होने का आरोप लगाया है. परिजनों के मुताबिक पिछले महीने की 18 तारीख को उन्होंने अपनी बेटी का दाखिला नोएडा के सेक्टर 49 थाना अंतर्गत बने हुए गुरुकुल में कराया था. दाखिले से पहले परिजनों ने छात्रा का मेडिकल टेस्ट भी कराया था. लेकिन उसके बाद 3 जुलाई को परिजनों के पास गुरुकुल से फोन आया कि आपकी बेटी की तबीयत बहुत खराब हो गई है और उन्हें जल्द से जल्द गुरुकुल आने के लिए कहा. 

आनन-फानन में परिजन जब सेक्टर 49 के अंतर्गत बने गुरुकुल पहुंचे तो उन्होंने अपनी बेटी को क्लास रूम के अंदर फंदे से लटकता पाया. परिजनों का आरोप है कि वहां उन्हें धमकाया गया और उनका फोन भी छीन लिया गया. इसी कारण ना तो वहां पुलिस बुलाई गई ना बच्ची का पोस्टमार्टम हुआ और ना ही सुसाइड नोट मां-बाप को दिया गया. परिजनों का आरोप है कि उन पर दबाव बनाकर गुरुकुल के आचार्य ने बच्ची का अंतिम संस्कार भी करा दिया.

इस सदमे के बाद से ही मृतक छात्रा की मां अस्पताल में भर्ती हो गयी थी. अब छात्रा की मां ने सोशल मीडिया पर अपनी बेटी के साथ फोटो दिखाते हुए एक बयान जारी किया है. जिसमें वह यह बता रही है कि किस तरीके से उनकी बच्ची के साथ गुरुकुल में गलत हुआ. इस वीडियो पर कार्रवाई करते हुए कल यानी रविवार को पुलिस ने सोशल मीडिया के माध्यम से ये बताया गया की  सेक्टर 49 में एक स्कूल है, वहां पर एक छात्र की मृत्यु हुई है. उसमें परिवार वालों का आरोप है कि उनकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया गया है और उसके बाद उसकी हत्या कर दी गई है. 

ये भी पढ़ें:- CBSE 12th result: परिणाम चेक करने के बीच सीबीएसई की साइट हुई क्रैश

पुलिस ने बताया कि हमने स्कूल प्रबंधन से संपर्क किय, जिसमें बताया कि छात्रा ने 03 तारीख को सुसाइड किया था. इस दौरान छात्रा के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला था. जिसमें छात्रा ने लिखा था कि मेरी मौत के लिए कोई भी जिम्मेदार नहीं है, स्कूल के लिए भी बताया है की कोई जिम्मेदार नहीं है, नोट में परिवार की कई समस्याएं भी लिखी हुई हैं साथ ही माता पिता से भी हमने संपर्क किया है. इसके बाद भी अगर उनका कोई ग्रीवांस है तो वो बताएं या कोई सबूत है तो दें तो हम बिलकुल कार्रवाई करेंगे.

14 साल की बच्ची की हुई आत्महत्या के बाद गुरुकुल के अंदर पहुंची ज़ी मीडिया की टीम ने गुरुकुल में पढ़ाने वाले आचार्य देवेंद्र से की खास बातचीत की. उन्होंने बताया कि परिजनों को बुलाकर उनके सामने ही अंतिम संस्कार कराया गया था. जब ज़ी मीडिया ने सवाल पूछा कि जब आत्महत्या हुई थी तो पुलिस को क्यों नहीं बुलाया गया उस पर आचार्य देवेंद्र ने चुप्पी साध ली और यह बताया कि यहां के संस्थापक आचार्य जैनेंद्र पूरे मामले को जानते हैं और उन्होंने ही पुलिस को नहीं बुलाया था.

LIVE TV





Source link

- Advertisement -
- Advertisment -

Most Popular

सुशांत सिंह राजपूत की जांच में मुंबई पुलिस पर बड़ा आरोप, राम कदम ने कही ये बात

नई दिल्ली: दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत को दो महीने बीत चुके हैं. लेकिन इस मामले की गुत्थी...

Bihar Police BPSSC Recruitment 2020: Deadline extended for posts of Police Sub Inspector, Deputy Under Inspector

The Bihar Police Subordinate Service Commission (BPSC) has released a notification...

लद्दाख में चीन सेना को धूल चटाने वाले जवानों को वीरता पदक देने की ITBP ने सिफारिश

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख (Ladakh) में चीनी सैनिकों से हुई झड़पों के दौरान साहस और शौर्य का प्रदर्शन करने वाले भारत-तिब्बत सीमा पुलिस...

स्टूडेंट ने UPSC की तैयारी के लिए मांगी मदद, Sonu Sood ने किया कुछ ऐसा रिप्लाई

नई दिल्ली: लॉकडाउन में बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) ने जिस तरह से मजदूरों को घर पहुंचाने में मदद की थी, वह...