Thursday, August 13, 2020
Home Breaking News Hindi चित्रकूट की खदानों में नाबालिग लड़कियों के शोषण पर बोले राहुल- क्या...

चित्रकूट की खदानों में नाबालिग लड़कियों के शोषण पर बोले राहुल- क्या ये सपनों का भारत है

- Advertisement -


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Thu, 09 Jul 2020 09:00 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड के चित्रकूट की खदानों में नाबालिग लड़कियों के साथ यौन शोषण का मामला सामने आया है। यहां गरीब नाबालिग लड़कियां मजदूरी करने को मजबूर हैं और बिचौलिये इसका फायदा उठाते हैं। एक निजी चैनल की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने पूछा है कि क्या यही सपनों का भारत है?

रिपोर्ट साझा करते हुए राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘अनियोजित लॉकडाउन में भूख से मरता परिवार… इन बच्चियों ने जिंदा रहने की ये भयावह कीमत चुकाई है। क्या ये ही हमारे सपनों का भारत है?’ बता दें कि चित्रकूट की खदानों में 12-14 साल की लड़कियां परिवार का पेट पालने के लिए खदानों में काम करने जाती हैं। जहां दो सौ- तीन सौ रुपये के लिए उनके जिस्म की बोली लगती है।

यह भी पढ़ें- 1962 की जुलाई में भी गलवां से पीछे हटा था चीन – क्या थी पूरी घटना जानें अमर उजाला के संग्रह से

 

उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड के चित्रकूट की खदानों में नाबालिग लड़कियों के साथ यौन शोषण का मामला सामने आया है। यहां गरीब नाबालिग लड़कियां मजदूरी करने को मजबूर हैं और बिचौलिये इसका फायदा उठाते हैं। एक निजी चैनल की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने पूछा है कि क्या यही सपनों का भारत है?

रिपोर्ट साझा करते हुए राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘अनियोजित लॉकडाउन में भूख से मरता परिवार… इन बच्चियों ने जिंदा रहने की ये भयावह कीमत चुकाई है। क्या ये ही हमारे सपनों का भारत है?’ बता दें कि चित्रकूट की खदानों में 12-14 साल की लड़कियां परिवार का पेट पालने के लिए खदानों में काम करने जाती हैं। जहां दो सौ- तीन सौ रुपये के लिए उनके जिस्म की बोली लगती है।

यह भी पढ़ें- 1962 की जुलाई में भी गलवां से पीछे हटा था चीन – क्या थी पूरी घटना जानें अमर उजाला के संग्रह से

 



Source link

- Advertisement -
- Advertisment -

Most Popular

जापान के PM ने 1 ही भाषण को 2 जगह पढ़ा, भड़क गए इन शहरों के लोग

टोक्‍यो: जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे पर आरोप लगा है कि हीरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु हमले की वर्षगांठ से जुड़े दो आयोजनों...

स्वदेशी का मतलब सभी विदेशी उत्पादों का बहिष्कार नहीं: मोहन भागवत

नई दिल्‍ली: राष्‍ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत ने बुधवार को कहा कि स्वदेशी का अर्थ जरूरी नहीं कि सभी विदेशी...

DNA ANALYSIS: भारत के 1 करोड़ से ज्यादा लोगों का Made In India मुहिम को समर्थन

नई दिल्ली: चीन के खिलाफ ऐसी ही एकजुटता भारत के लोग भी दिखा रहे हैं. 30 जून को Zee News ने Made In...