जब गाड़ी ड्राइव करते-करते सो गए थे रामायण के ‘लक्ष्मण’ सुनील लहरी, आंख खुली तो…


नई दिल्‍ली: दूरदर्शन पर प्रसारित रामायण ने दर्शकों की संख्‍या और टीआरपी के कई रिकॉर्ड तोड़ दिए. साथ ही उन पुराने किस्‍सों को भी ताजा कर दिया, जिन लोगों ने 80 के दशक में प्रसारित हुई रामायण देखी थी. रामायण का हिस्‍सा रहे कलाकार और बाकी टीम के जेहन में भी शूटिंग के दिन ताजा हो गए हैं. 

रामायण में लक्ष्‍मण का किरदार निभाने वाले सुनील लहरी भी हर ऐपिसोड से जुड़ा किस्‍सा सोशल मीडिया के जरिए लोगों के सामने ला रहे हैं. इस बार उन्‍होंने रामायण के पांचवे ऐपिसोड से जुड़ा किस्‍सा सुनाया है जिसमें वो एक बड़े हादसे में बाल-बाल बच गए थे.

24 घंटे से सोए नहीं और फिर नींद लग गई
सुनील लहरी बताते हैं कि पांचवे एपिसोड की शूटिंग करने के लिए मैं सुबह 4 बजे मुंबई से निकला और ड्राइव करके सेट पर पहुंचा. उस दिन मेरा जनक दरबार में एक ड्रामेटिक सीन था. मैंने जाते साथ ही सागर साहब से कहा कि आज मुझे जल्‍दी छोड़ दीजिएगा, मेरी मुंबई में दूसरी शूटिंग है, जो मैं छोड़कर आया था. उसमें बड़े-बड़े कलाकार थे, हेलीकॉप्‍टर बुलाए गए थे. दुनियाभर का पूरा टीम-टाम वहां जुटाया गया था. लिहाजा मेरा पहुंचना जरूरी थी. वहीं जनक दरबार वाली शूटिंग पूरी होने में रात के 3 बज गए. उतनी रात को मैं वापस मुंबई के लिए निकला.

इतना बड़ा हादसा हुआ लेकिन खरोंच भी नहीं आई
लहरी ने उस एक्सीडेंट को याद करते हुए बताया, “मैं 24 घंटे से सोया नहीं था. रास्‍ते में हाईवे पर ड्राइव करते-करते मुझे नींद आ गई. जब मेरी आंख खुली तो मैं अपनी गाड़ी के साथ खेत में था और हाईवे काफी दूर नजर आ रहा था. सोचिए, मेरे साथ कितना बड़ा हादसा हो सकता था. वो तो भगवान की कृपा है और अपनों का आर्शीवाद है कि मुझे खरोंच तक नहीं आई. यहां तक कि गाड़ी को भी कुछ नहीं हुआ.” 

 

 

उन्होंने घटना के बारे में कहा, “मैंने दोबारा गाड़ी स्‍टार्ट की, वो स्‍टार्ट हो भी गई. मैं उसे लेकर हाईवे पर आया. फिर मैं रास्‍ते में एक रेस्‍टोरेंट पर रूका, वहां जाकर मुंह-हाथ धोया, उसके बाद आगे ड्राइव करके 8 बजे मुंबई पहुंचा और दूसरी शूटिंग अटेंड की. लेकिन उस दिन समझ आया कि मुझसे कितनी बड़ी गलती हो गई थी. वो तो उस दिन मैं बाल-बाल बच गया. लिहाजा मैं यही कहूंगा कि सेफ ड्राइव करें और सुरक्षित रहें क्‍योंकि जान है तो जहान है.” 





Source link