‘तेरे नाम’ में सलमान खान नहीं बल्कि यह एक्टर निभाने वाला था लीड रोल


नई दिल्ली: 2003 में रिलीज हुई सुपर हिट फिल्म ‘तेरे नाम’ में अगर हीरो का रोल संजय कपूर निभाते और डाइरेक्टर अनुराग कश्यप होते तो यह फिल्म कैसी होती? ‘देव डी’ या ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ की तरह?

तमिल फिल्म का रीमेक
लेकिन ऐसा नहीं हुआ. आइए इसका कारण जानते हैं. दरअसल ‘तेरे नाम’ फिल्म तमिल की सुपर हिट फिल्म ‘सेतु’ का रीमेक है और इसके हिंदी के राइट्स खरीदे थे उस जमाने के चर्चित और हिट प्रोड्यूसर-डाइरेक्टर राम गोपाल वर्मा ने. रामू यह फिल्म खुद बनाना चाहते थे और इस फिल्म की हिंदी में पटकथा लिखने के लिए उन्होंने ‘सत्या’ के लेखक अनुराग कश्यप को अनुबंधित कर लिया. अनुराग इस स्क्रिप्ट में इतना इंटेरेस्ट लेने लगे कि रामू ने उनसे कहा कि यह फिल्म तुम ही डाइरेक्टर करो. अनुराग एक्साइटेड हो गए कि उन्हें अपनी जिंदगी की पहली कमर्शियल फिल्म निर्देशित करने को मिल रही है. उन्होंने फिल्म की कहानी के हिसाब से अनिल कपूर के छोटे भाई संजय कपूर को हीरो के रोल के लिए चुन लिया. फिल्म का प्री प्रोडक्शन का काम शुरू हो गया.

इस बीच राम गोपाल वर्मा ने तय किया कि वो इस फिल्म को प्रोड्यूस नहीं करेंगे और फिल्म में दूसरा प्रोड्यूसर आ गया. नए प्रोड्यूसर ने आते ही अनुराग से कहा कि अब हम इस फिल्म को बड़ा बनाएंगे और हीरो के रोल के लिए सलमान खान को साइन करेंगे.

सलमान की वापसी
अनुराग सलमान के नाम पर बहुत एक्साइटेड हो गए. जब वे सलमान से मीटिंग के लिए गए तो उन्होंने स्क्रिप्ट सुनाने के बाद कहा कि अब तुम्हें हीरो के हिसाब से खुद को ढालना है. जिम वाली बॉडी नहीं चलेगी. सीने पर बाल चाहिए. चेहरा एकदम तराशा हुआ नहीं लगना चाहिए वगैरह-वगैरह. सलमान ने सब सुन लिया, कहा कुछ नहीं.

अगले दिन जब अनुराग प्रोड्यूसर के ऑफिस पहुंचे तो प्रोड्यूसर उन पर आग-बबूला हो गए. उन्हें इस बात की नाराजगी थी कि अनुराग के बड़बोलेपन की वजह से कहीं सलमान फिल्म ना छोड़ दे. अनुराग प्रोड्यूसर की गालियां खा कर लौट आए. कुछ दिनों बाद उन्हें पता चला कि बिना उन्हें बताए निर्माता ने निर्देशन की जिम्मेदारी सतीश कौशिक को दे दी है.

तेरे नाम हुई सुपर हिट
तेरे नाम’ सलमान खान के लिए गेम चेंजर साबित हुई. फिल्म खूब चली. खासकर फिल्म में सलमान का लंबे बालों वाला लुक सबको खूब पसंद आया. अनुराग इस बात से दुखी तो हुए, पर हताश नहीं. उनको समझ में आ गया कि हिंदी फिल्मों में हीरो के साथ काम करने पर क्या खामियाजा भुगतना पड़ता है.

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें 





Source link