Friday, August 14, 2020
Home Breaking News Hindi नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक फिर टली, अब शुक्रवार को होगा पीएम...

नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक फिर टली, अब शुक्रवार को होगा पीएम ओली के भविष्य का फैसला

- Advertisement -


प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली (फाइल फोटो)

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

नेपाल की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की बुधवार को होने वाली अहम बैठक एक बार फिर टल गई है, अब यह शुक्रवार को होगी। इस बैठक में प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के राजनीतिक भविष्य पर फैसला होना था। ओली की कार्यशैली तथा भारत विरोधी बयानों के चलते उनके इस्तीफे की मांग उठ रही है। 

दूसरी ओर पार्टी के दो धड़ों में मतभेद भी गहरा गए हैं। इन धड़ों में से एक की अगुवाई ओली कर रहे हैं तथा दूसरे धड़े के नेता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ हैं। नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की 45 सदस्यीय शक्तिशाली स्थायी समिति की बैठक बुधवार को होनी थी। और अब यह शुक्रवार को होगी।

प्रधानमंत्री के प्रेस सलाहकार सूर्य थापा ने बैठक के शुक्रवार तक स्थगित होने की घोषणा की। यह चौथी बार है जब बैठक स्थगित हुई है। बैठक टलने की कोई वजह नहीं बताई गई है।

पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ समेत एनसीपी के शीर्ष नेताओं ने ओली का इस्तीफा मांगा है। उनका कहना है कि ओली के हाल के भारत विरोधी बयान ‘न तो राजनीतिक रूप से सही हैं और न ही कूटनीतिक तौर पर उचित’।

नेपाल की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की बुधवार को होने वाली अहम बैठक एक बार फिर टल गई है, अब यह शुक्रवार को होगी। इस बैठक में प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के राजनीतिक भविष्य पर फैसला होना था। ओली की कार्यशैली तथा भारत विरोधी बयानों के चलते उनके इस्तीफे की मांग उठ रही है। 

दूसरी ओर पार्टी के दो धड़ों में मतभेद भी गहरा गए हैं। इन धड़ों में से एक की अगुवाई ओली कर रहे हैं तथा दूसरे धड़े के नेता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ हैं। नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की 45 सदस्यीय शक्तिशाली स्थायी समिति की बैठक बुधवार को होनी थी। और अब यह शुक्रवार को होगी।

प्रधानमंत्री के प्रेस सलाहकार सूर्य थापा ने बैठक के शुक्रवार तक स्थगित होने की घोषणा की। यह चौथी बार है जब बैठक स्थगित हुई है। बैठक टलने की कोई वजह नहीं बताई गई है।

पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ समेत एनसीपी के शीर्ष नेताओं ने ओली का इस्तीफा मांगा है। उनका कहना है कि ओली के हाल के भारत विरोधी बयान ‘न तो राजनीतिक रूप से सही हैं और न ही कूटनीतिक तौर पर उचित’।



Source link

- Advertisement -
- Advertisment -

Most Popular

इस वजह से टूट गए थे Shammi Kapoor, इन दो शख्स के कारण हुए थे धार्मिक

नई दिल्ली: बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता शम्मी कपूर (Shammi Kapoor) की पुण्यतिथि पर उनके चाहने वालों के लिए ये जानकारी काफी दिलचस्प होगी....

एक्सीडेंट के बाद थी बिस्तर पर लड़की, सोनू सूद ने की मदद तो फिर बढ़ाया कदम

नई दिल्ली: 22 साल की एक लड़की की जिंदगी बिस्तर पर पड़े रहकर ही कट रही थी क्योंकि एक दुर्घटना का शिकार होने...

On this day in 1990, Sanchin Tendulkar scored his maiden international century for India

On this day in 1990, the 17-year-old batsman Sachin Tendulkar scored...

राजस्थान: गहलोत सरकार ने विधानसभा में जीता विश्वास मत

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार ने राजस्थान विधानसभा में विश्वास मत हासिल कर लिया है. सरकार के विश्वास मत के प्रस्ताव को...