बिहार में कुल कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ों में 75 प्रतिशत प्रवासी श्रमिक


प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना:

बिहार में कोरोना  पॉज़िटिव मरीज़ों की संख्या बुधवार को 4273 हो गई जिसमें से क़रीब 75 प्रतिशत प्रवासी श्रमिक बताए जा रहे हैं. सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले चौबीस घंटे में 224 नए मरीज़ सामने आए हैं. वहीं राज्य में 2025 मरीज़ अब तक ठीक होकर घर जा चुके हैं. प्रवासी मरीज़ों के कुल 3079 बताई गयी है. जिनमें 733 श्रमिक महाराष्ट्र से आए हैं. वहीं 729 ऐसे संक्रमित पाए गए हैं जो दिल्ली से लौटे हैं. हरियाणा 264 और गुजरात से 480 संक्रमित बिहार आए हैं. 

यह भी पढ़ें

 वहीं राज्य में तमाम दावों के बाबजूद अभी तक हर दिन चार हज़ार लोगों की भी टेस्टिंग नहीं हो पा रही हैं . बुधवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार कुल जांच की संख्या 3316 थी जो अब तक का सर्वाधिक हैं. हलांकि मुख्य मंत्री नीतीश कुमार ने दावा किया है कि राज्य में सजगता के कारण मरीज़ों की संख्या नियंत्रण में हैं. साथ ही उन्होंने टेस्टिंग दस हज़ार तक प्रतिदिन करवाने का लक्ष्य रखा है. साथ ही मुख्यमंत्री ने ये भी माना कि अब ग्रामीण इलाक़ों में काम करने वाले डिग्री विहीन चिकित्सकों की भूमिका काफ़ी महत्वपूर्ण हो गयी हैं. वही उप मुख्य मंत्री सुशील मोदी ने एक बयान में कहा की समय पर प्रभावी पहल से महाराष्ट्र या गुजरात की तुलना में बिहार में मौत का आंकड़ा इतना कम हैं.

VIDEO:देश में कोरोना के केस 2 लाख पार



Source link