Thursday, August 13, 2020
Home Breaking News Hindi बिहार में वज्रपात का कहर, बेगूसराय सहित पांच जिलों में सात लोगों...

बिहार में वज्रपात का कहर, बेगूसराय सहित पांच जिलों में सात लोगों की मौत

- Advertisement -


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

मौसम और प्रकृति की मार के आगे बिहार के लोग बेबस नजर आ रहे हैं। बिहार के पांच जिलों में आंधी और बारिश के दौरान वज्रपात की चपेट में आने से मंगलवार को सात लोगों की मौत हो गई। आपदा प्रबंधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, बिजली गिरने से बेगूसराय में तीन और भागलपुर, मुंगेर, कैमूर व जमुई में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई। विभाग के मुताबिक वज्रपात से इन इलाकों में काफी क्षति हुई है।
 

बता दें कि बिहार में बिजली गिरने से पिछले हफ्ते 26 लोगों की मौत हो गई थी। इसके अलावा 30 जून को पांच जिलों में 11 व्यक्ति और 25 जून को 22 जिलों में 96 लोगों की मौत हो गई थी।

मौसम विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, बुधवार को पूर्वी चंपारण, मधुबनी, अररिया, किशनगंज, कटिहार और भागलपुर जिले में गरज के साथ भारी बारिश की संभावना जताई गई है।

बिहार यूपी में बारिश बनी काल
इस साल देश में मानसून की स्थिति अच्छी है और हर तरह खूब बारिश हो रही है लेकिन यूपी-बिहार में ये बारिश काल बनकर आई है। यहां बारिश के साथ हो रहे वज्रपात से लोग सहमे हुए हैं क्योंकि इस आकाशीय आपदा ने अब तक कइयों की जान ले ली है। बिजली गिरने की वजह से 15 मई के बाद से अब तक सिर्फ यूपी और बिहार में ही 315 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले हफ्ते शनिवार को ही दोनों राज्यों में बिजली गिरने की घटनाओं में कम से कम 49 लोगों की मौत हो गई जबकि कई लोग घायल हुए हैं।

बता दें कि इस साल अब तक बिहार में एक जून से दो जुलाई तक 66 फीसदी अधिक बारिश हुई है, वहीं यहां 24 जून से एक जुलाई तक 77 फीसदी अधिक वर्षा हुई है। 

मौसम और प्रकृति की मार के आगे बिहार के लोग बेबस नजर आ रहे हैं। बिहार के पांच जिलों में आंधी और बारिश के दौरान वज्रपात की चपेट में आने से मंगलवार को सात लोगों की मौत हो गई। आपदा प्रबंधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, बिजली गिरने से बेगूसराय में तीन और भागलपुर, मुंगेर, कैमूर व जमुई में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई। विभाग के मुताबिक वज्रपात से इन इलाकों में काफी क्षति हुई है।

 

बता दें कि बिहार में बिजली गिरने से पिछले हफ्ते 26 लोगों की मौत हो गई थी। इसके अलावा 30 जून को पांच जिलों में 11 व्यक्ति और 25 जून को 22 जिलों में 96 लोगों की मौत हो गई थी।

मौसम विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, बुधवार को पूर्वी चंपारण, मधुबनी, अररिया, किशनगंज, कटिहार और भागलपुर जिले में गरज के साथ भारी बारिश की संभावना जताई गई है।

बिहार यूपी में बारिश बनी काल
इस साल देश में मानसून की स्थिति अच्छी है और हर तरह खूब बारिश हो रही है लेकिन यूपी-बिहार में ये बारिश काल बनकर आई है। यहां बारिश के साथ हो रहे वज्रपात से लोग सहमे हुए हैं क्योंकि इस आकाशीय आपदा ने अब तक कइयों की जान ले ली है। बिजली गिरने की वजह से 15 मई के बाद से अब तक सिर्फ यूपी और बिहार में ही 315 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले हफ्ते शनिवार को ही दोनों राज्यों में बिजली गिरने की घटनाओं में कम से कम 49 लोगों की मौत हो गई जबकि कई लोग घायल हुए हैं।

बता दें कि इस साल अब तक बिहार में एक जून से दो जुलाई तक 66 फीसदी अधिक बारिश हुई है, वहीं यहां 24 जून से एक जुलाई तक 77 फीसदी अधिक वर्षा हुई है। 





Source link

- Advertisement -
- Advertisment -

Most Popular

जापान के PM ने 1 ही भाषण को 2 जगह पढ़ा, भड़क गए इन शहरों के लोग

टोक्‍यो: जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे पर आरोप लगा है कि हीरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु हमले की वर्षगांठ से जुड़े दो आयोजनों...

स्वदेशी का मतलब सभी विदेशी उत्पादों का बहिष्कार नहीं: मोहन भागवत

नई दिल्‍ली: राष्‍ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत ने बुधवार को कहा कि स्वदेशी का अर्थ जरूरी नहीं कि सभी विदेशी...

DNA ANALYSIS: भारत के 1 करोड़ से ज्यादा लोगों का Made In India मुहिम को समर्थन

नई दिल्ली: चीन के खिलाफ ऐसी ही एकजुटता भारत के लोग भी दिखा रहे हैं. 30 जून को Zee News ने Made In...

DNA ANALYSIS: सुशांत के परिवार की भावुक चिट्ठी

नई दिल्ली: अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले की जांच अब सीबीआई के पास है. लेकिन दो महीने बाद भी सुशांत...