49 सेलेब्स ने मॉब लिंचिंग के खिलाफ PM मोदी को लिखा पत्र, ये हैं वो 49 नाम

https://www.news4social.com/?p=53377

अदूर गोपालकृष्णन, मणिरत्नम, अनुराग कश्यप और अपर्णा सेन, कोंकणा सेन शर्मा, सौमिता चटर्जी जैसे फिल्म निर्देशकों और अभिनेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा है जिसमें लिंचिंग के बढ़ते मामलों पर चिंता व्यक्त की गई है।

कुल 49 हस्तियों ने खेद व्यक्त करते हुए पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं और ‘जय श्री राम’ के उद्घोष से होनी वाली हिंसा से दुःखी है। पत्र में यह भी कहा गया है, “राम बहुसंख्यक समुदाय के लिए पवित्र हैं, राम के नाम को परिभाषित करना बंद करें।”

देश में लिंचिंग के मामलों की संख्या के बारे में बात करते हुए मशहूर हस्तियों ने कहा है, “मुसलमानों, दलितों और अन्य अल्पसंख्यकों की लिंचिंग को तुरंत रोका जाना चाहिए। हम एनसीआरबी से यह जानकर हैरान रह गए कि वर्ष 2016 में 840 से अधिक दलितों पर अत्याचार व हिंसा के केस सामने आये है।”

चिट्ठी में हस्ताक्षर करने वालों में बिनायक सेन, सौमित्रो चटर्जी, रेवती, श्याम बेनेगल, शुभा मुद्गल, रूपम इस्लाम, अनुपम रॉय, परमब्रता, रिद्धि सेन भी शामिल हैं।

23 जुलाई को लिखे गए पत्र में कहा गया है, “आपने संसद में इस तरह के पाखण्डों की आलोचना की है। श्री प्रधानमंत्री जी लेकिन यह पर्याप्त नहीं है! वास्तव में अपराधियों के खिलाफ क्या कार्रवाई की गई है?”

“अफसोस, देश में जय श्रीराम का नारा युद्धघोष बन चुका है और इसके नाम पर कई लिंचिंग हो रही हैं।”

यह भी पढ़ें: ओट्स को इन तरीकों से बनाएं अपने नाश्ते का किंग

इतिहासकार रामचंद्र गुहा, डॉक्टर और सामाजिक कार्यकर्ता बिनायक सेन, विद्वान और समाजशास्त्री आशीस नंदी उन लोगों में से हैं जिन्होंने पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं।

पत्र में आगे कहा गया है कि आज देश में धर्म के नाम पर कुछ ना कुछ जरूर हो रहा है। सत्ताधारियों द्वारा किसी को भी देशविरोधी करार दिया जा रहा है। मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर संसद में सिर्फ निंदा से काम नहीं चलेगा। इन्हें रोकने के लिए केंद्र सरकार को सख्त कदम उठाने होंगे।