विराट के कंधो पर बड़ी जिम्मेदारी।

विराट के कंधो पर बड़ी जिम्मेदारी।

भारतीय क्रिकेट टीम 4 जून को पकिस्तान के खिलाफ चैंपियंस ट्रॉफी के साथ खिताब को बचाने की कोशिश करेगी। युवा कप्तान विराट कोहली के कंधो पर पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी की महाकाय को आगे ले जाने और खिताब बचाये रखने की चुनौती होगी।

तीसरे खिताब की तैयारी
भारतीय टीम की नजरें खिताब को बचाने के साथ साथ सर्वाधिक तीन बार इस चैंपियंस ट्रॉफी पर कब्जा करने पर लगी होगी। भारत दो बार चैंपियंस ट्रॉफी को हासिल करता आया है और ऑस्ट्रेलिया के साथ सर्वाधिक जीतने वाला देश है। भारतीय टीम में ज्यादातर वहीँ खिलाड़ी है जो पिछली बार धौनी की कप्तानी में खिताब जीतने वाली टीम में शामिल थे।

परिस्थितियों से सामजंस्य
जनवरी के बाद भारतीय टीम पहली बार वनडे टूर्नामेंट खेलने उतर रही है। ऐसे में विराट और उनकी टीम के अन्य खिलाड़ियों के लिए जरूरी है की वो जल्द ही माहौल में ढल जाए और खेलने की तैयारियों में जुट जाए। लम्बे समय बाद टीम में वापस लोटे महोम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, उमेश यादव और जसप्रीत बुमराह ने अभ्यास मैचों में शानदार गेंदबाजी की है।

पाकिस्तान से भिड़ंत
भारतीय टीम आगाज से ही पाक से भिड़ने को तैयार है। चैंपियंस ट्रॉफी के लिए पाक का भारत के खिलाफ अच्छा रिकॉर्ड नहीं रहा है। भारत ने चार मैचों में पाक का सामना किया जिसमे से पाक को तीन मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। आईपीएल की असफलता को भुला विराट कोहली ने चैंपियंस ट्रॉफी के लिए कमर कस ली है।

रोहित शर्मा, शिखर धवन, आंजिक्य राहणे, केदार जाधव, युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धौनी के रूप में टीम की बल्लेबाजी जबरदस्त रहेगी। आल राउंडर के तौर पर हार्दिक पांड्या, रविंद्र जडेजा और स्पिनर आर आश्विन टीम को निचलेक्रम पर मजबूती देंगे।