उन्नाव कांड: CBI ने कहा- सेंगर ने ही रेप किया और उसके बाद…

उन्नाव रेपकांड में भाजपा से निष्कासित विधायक व मुख्य आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ मुकदमा दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में चल रहा है। इस बीच सुनवाई के दौरान मामले की जांच कर रही सीबीआई ने अदालत में रेप पीड़िता द्वारा लगाए गए आरोपों पर अपनी बात रखी।

देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई ने तीस हजारी कोर्ट में साफ-साफ कहा कि उनकी जांच में पीड़िता लड़की के आरोप बिल्कुल सही पाए गए हैं। सीबीआई ने अदालत से कहा, जांच में पता चला है कि 4 जून 2017 को विधायक कुलदीप सिंह सेंगर द्वारा पीड़िता के साथ बलात्कार करने और शशि सिंह के साजिश में शामिल होने के आरोप सही हैं।

अदालत को सीबीआई की तरफ से जो जानकारी दी गई है उसके मुताबिक, शशि सिंह पीड़ित लड़की को नौकरी दिलाने के बहाने कुलदीप सिंह सेंगर के घर ले गया। 4 जून को जब पीड़िता के साथ रेप हुआ तब उसकी उम्र 18 साल से कम थी। तीस हजारी कोर्ट में जज ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनी।

अदालत में सीबीआई ने पीड़िता के बयान को भी जज के सामने रखा। जिसमें कहा गया है कि ‘उस वक्त वहां (घर) पर कोई मौजूद नहीं था… वहां पर सुरक्षा कर्मी भी नहीं थे…मैंने (पीड़िता) अपने घर में किसी को भी यह बात नहीं बताई…शशि मुझे पीछे के दरवाजे से घर के अंदर ले गया…मैं जैसे ही घर के अंदर प्रवेश कर रही थी तभी कुलदीप सिंह सेंगर मुझे दिखा…उसने मेरा हाथ खींचा और कमरे के अंदर ले गया।’ जानकारी के मुताबिक पीड़िता ने अपनी आपबीती सबसे पहले अपनी चाची को बताई थी।

बता दें कि कुछ दिनों पहले पीड़िता की कार के साथ एक सड़क हादसा हो गया था, जिसमें उसके रिश्तेदारों की मौत हो गई थी। इस दुर्घटना में वकील और पीड़िता गंभीर रूप से घायल हुए थे। फिलहाल, लखनऊ के अस्पताल में इलाज होने के बाद पीड़िता दिल्ली के एम्स रेफर कर दिया गया। जहां उसका इलाज चल रहा है।

ये भी पढ़ें : पत्नी के सवाल पर तेजप्रताप ने कहा- गांजा तो भोले बाबा का प्रसाद है, तो उसको…