वो कांग्रेसी जो पार्टी छोड़कर अन्य दलों में शामिल हुए और सफल हुए

change Congress party
change Congress party

वो कांग्रेसी जो पार्टी छोड़कर अन्य दलों में शामिल हुए और सफल हुए

दोस्तों अपने स्वार्थ के लिए नेताओं का पार्टी बदलना कोई नई बात नहीं है. जब भी कोई अच्छा सा मौका मिलता है. नेता अपनी पार्टी बदल लेते हैं. यह सिलसिला वैसे तो बहुत पुराना है लेकिन 2014 चुनाव के बाद तो इसमें बहुत तेजी देखने को मिली है. कांग्रेस पार्टी राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर काफी समय तक सत्ता में रही है. लेकिन अब नेतृत्व के अभाव में इसमें फूट पड़ती ही जा रही है तथा इसके नेता दल बदल रहें हैं. ऐसा नहीं है कुछ नेता कांग्रेस पार्टी में भी आए हैं. लेकिन ज्यादात्तर ने कांग्रेस पार्टी छोड़ दी. चलिए आज जानते हैं कि कौन कौन ऐसे नेता हैं जिन्होंने कांग्रेस पार्टी छोड़ दी तथा यह उनके लिए फायदे का सौदा रहा या नुकसान का.

एन बीरेन सिंह
एन बीरेन सिंह

एन बीरेन सिंह–   आपको बता दें एन बीरेन सिंह कांग्रेस के नेतृत्‍व वाली पिछली सरकार में मंत्री पद संभाल चुके हैं. वे पिछले साल अक्‍टूबर में ही कांग्रेस से इस्‍तीफा देकर भाजपा से जुड़े थे.अब जब भाजपा सत्ता में आई तो उनको मुख्यमंत्री का पद दिया गया है.

रिता बहुगुणा जोशी – ये कांग्रेस की पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुकी हैं तथा UP चुनाव से ठीक पहले इन्होंने BJP  Join कर ली. इसके बाद ये लखनऊ कैंट से विधायक बनीं और योगी आदित्यनाथ कैबिनेट में इनको जगी भी मिली.

Pema Khandu
Pema Khandu

Pema Khandu (पेमा खांडू) – इन्होंने सितंबर में कांगेस छोड़ी तथा दिसंबर में ये भाजपा में शामिल हुए थे. इनके पिता दोरजी खांडू कांग्रेस पार्टी की तरफ से प्रदेश में मुख्यमंत्री रह चुके हैं. अब भाजपा में आने के बाद पेमा खांडू भी अरूणाचल के मुख्यमंत्री हैं.

चौधरी बीरेंद्र सिंह – बीरेंद्र सिंह कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता रहे हैं.वो 42 साल तक कांग्रेस पार्टी से जुड़े रहे. इसके बाद उन्होंने भी कांग्रस पार्टी को छोड़कर 2014 में भाजपा को Join कर लिया. ये कई विभागों में मंत्री भी रहे हैं.

बीरेंद्र सिंह
बीरेंद्र सिंह
ज्योतिरादित्य सिंधिया – मध्यप्रदेश की राजनीति का बड़ा नाम रहे हैं |10 मार्च 2020 को उन्होंने अंतरिम पार्टी अध्यक्ष  सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा देकर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से बाहर हो गये. वह 11 मार्च 2020 को भजपा में शामिल हो गये.

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में यादव की जनसंख्या कितने प्रतिशत है ?

उपरोक्त के अलावा भी काफी ऐसे नेता हैं जो कांग्रेस पार्टी को छोड़कर दूसरे दल में शामिल हो गए. जैसे- 2014 लोकसभा चुनाव की बात करते हैं. तब राव इंद्रजीत सिंह, जगदंबिका पाल, डी पुरंदेश्वरी, कृष्णा तीरथ समेत ढेर सारे कांग्रेसी नेता भाजपा में शामिल हुए थे. इसमें से कई आज मंत्री भी बने हैं.

गोवा में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस विधायक विजय पाई खोट, प्रवीण ज्यांते और पांडुरंग मदकाईकर भाजपा में शामिल हो गए. भाजपा ने इन सभी नेताओं को विधानसभा का टिकट भी दे दिया. 

day latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.