भीम आर्मी का मार्च प्रदर्शन, कांग्रेस ने किया सपोर्ट

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश में काफी प्रदर्शन देखा जा रहा है. देश की राजधानी दिल्ली समेंत कई जगहों पर लोग सड़कों पर उतर आए है, पत्थरबाजी, आगजनी, तोडफोड जिसका खामियाजा आम नागरिकों को भी झेलना पड़ रहा है. वहीं दूसरी ओर भीम आर्मी नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में मार्च करने जा रही है.

दिल्ली में CAA और NRC के खिलाफ प्रदर्शनों के लिहाज से आज अहम दिन कहा जा रहा है. जिसके चलते जामिया और शाहीन बाग मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए गए हैं. इसके अलावा जामा मस्जिद के आसपास के इलाकों में भी खास सुरक्षा की गई है. उधर भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आज दोपहर एक बजे CAA के खिलाफ जामा मस्जिद से मार्च निकालेंगे. संवेदनशील इलाकों में 13,000 पुलिस के अतिरिक्त जवान हैं. जिसके बाद गाजियाबाद और नोएडा में धारा 144 लागू कर दी गई है.

भीम आर्मी ने आज दिल्ली के जामा मस्जिद से लेकर जंतर-मंतर तक मार्च निकालने की तैयारी में है. भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने CAA और NRC के विरोध में मार्च का ऐलान किया था. वहीं अब इस मार्च को कांग्रेस का समर्थन मिला है. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि वो भीम आर्मी के मार्च का सपोर्ट करते हूं. दिग्विजय सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मैं चन्द्रशेखर की भीम आर्मी की जामा मस्जिद से लेकर जंतर मंतर तक निकाली जा रही CAA और NRC के खिलाफ मार्च का समर्थन करता हूँ.

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ कई राजनीतिक दल सरकार के खिलाफ आ गए हैं. वहीं विपक्षी नेताओं ने इन कानूनों को लेकर राष्ट्रपति से भी मुलाकात की और इसे हटाने की मांग की. वहीं विपक्षी नेता लगातार नागरिकता कानून पर विरोध दर्ज करवा रहा है.

इसके अलावा नागरिकता कानून को लेकर देश में कई हिंसात्मक विरोध प्रदर्शन भी देखे जा रहे है. देश के कई इलाकों में लोग नागरिकता कानून को लेकर सड़कों पर उतर कर हंगामा कर रहें है और हिंसा को अंजाम दे रहें हैं. प्रदर्शनकारियों ने सरकारी और प्राइवेट संपत्तियों को भी इस विरोध का हिस्सा बना डाला है और विरोध के दौरान नुकसान पहुंचाया जा रहा है.

यह भी पढ़ें : प्रदर्शन को कवर कर रहें 30 पत्रकारों को पुलिस ने लिया हिरासत में

अब सवाल ये उठाता है कि क्या प्रदर्शनकारियों का इस तरह का उत्पात मचाना सही है. जिसका हरजाना आम जनता को भुगतना पड़ें. क्या यह प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से नहीं किया जा सकता?