मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने का रास्ता साफ, शिवराज का इस्तीफा

भोपाल: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनने का रास्ता लगभग साफ हो गया है, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हार मानते हुए अपने पद से इस्तीफा राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को सौंप दिया।

राज्य के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को पूर्ण बहुमत तो नहीं मिला है, मगर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है, कांग्रेस को 114 सीटें मिली है। साथ उसे चार निर्दलीय, दो बसपा और एक सपा के विधायक का समर्थन मिला है। इस तरह कांग्रेस को 121 विधायकों का समर्थन मिल गया है।

शिवराज  सिंह चौहान ने हार मानते हुए पद से राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को इस्तीफा सौंप दिया है । चौहान ने कहा कि, ‘मै अब मुक्त हूॅ, राज्यपाल को अपने पद से इस्तीफा सौप दिया है, राज्य में कार्यकर्ताओं ने परिश्रम किया, मतदान का प्रतिषत ज्यादा रहा मगर अंक बल में पीछे हैं, भाजपा सरकार बनाने का दावा नहीं करेगी, कमलनाथ को बधाई।‘ ज्ञात हो कि, राज्य में 230 विधानसभा सीटें है और बहुमत के लिए 116 विधायकों की जरुरत है। कांग्रेस के दावे के सही माना जाए तो वह बहुमत के आंकड़े से भी आगे निकल गई है।