कोरोना के फेर में ठग इस तरह से कर रहें हेरफेर

Monthly / Yearly free trial enrollment

जहां देशभर में कोरोना के खिलाफ जंग जारी है ,उसी बीच ठगी का मामला बढ़ता जा रहा है। अनलॉक के बाद देश में ठगी का ग्राफ भी बढ़ता जा रहा है। कोरोना काल में भी लोग बाज़ नहीं आ रहे है और आये दिन ठगी जैसे वारदातों को अंजाम दे रहे है। एक ऐसा ही ठगी का मामला सामने आया है जिसमे एक महिला शातिर तरीके से दुकानदार को ठगने की फ़िराक में थी। लॉकडाउन के बाद अपराध के मामलों में काफी तेजी आई है। आजकल हैकर्स की बात करें या फिर पैसे जुटाने के चक्कर में आम लोगों की अधिकतर लोग कोरोना काल में लग-अलग तरीके से बेकसूर लोगों को ठग रहा है और अपना निशाना बना रहा है। अब भले देश अनलॉक (unlock 1.0) हो चुका है। लेकिन इस बीच भी खुद को इस सब से बचाना जरूरी है।

आप जानकर हैरान रह जाएंगे की ठगी किस तरकीब का सहारा लेकर लोगो को ठग रहे है। कोविड से जुड़ा (डब्ल्यूएचओ, बैंक वगैरह) से ईमेल या फोन करके ठगी करना। इंश्योरेंस एजेंट बनकर प्रीमियम भरने के लिए कहकर ठगी करना, वॉट्सऐप पर लिंक भेजकर मोबाइल हैक करके, बैक व फोन वॉलेट के कर्मचारी बनकर फोन करना। कोरोना के नाम पर मदद मांगने के लिए फोन करना या फिर अपनी शातिर गिरी का इस्तेमाल कर बिना पैसे दिए लोगों को बेवकूफ बनाकर उनसे पैसे ऐंठ लेना।

देश में अनलॉक लागू होते ही चोरी, ठगी के मामले भी बेकाबू होते जा रहे है। चाहे बात करें धोखाधड़ी की या फिर चोरी की कोरोना के आकड़े में बढ़ोतरी के साथ -साथ इनका अकड़ा भी बढ़ता जा रहा है , इसने सतर्क रहने की जरूरत है, तभी आप ऐसे किसी साज़िश का शिकार बनाने से बच सकते है।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस के ‘नए लक्षण’ जिनको नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी