मुस्लिम महिलाओं का बाल कटवाना नाजायज!

मुस्लिम महिलाओं का बाल कटवाना नाजायज!
मुस्लिम महिलाओं का बाल कटवाना नाजायज!

आजादी के इतने सालों बाद भी महिलाओं पर लगने वाली नाजायज रोक-टोक हटने का नाम नहीं ले रहा है। जी हाँ, आएं दिन महिलाओं को लेकर कोई न कोई फरमान निकाल ही दिया जाता है। मुस्लिम धर्म में महिलाओं पर नकेल कसने के लिए तरह तरह के बंदिश लगाई जाती है, जिसमें सा था एक तीन तलाक का मामला। तीन तलाक ने न जाने कितनी महिलाओं की जिंदगी बर्बाद करके रख दी होगी, हालांकि इस मामलें में सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है। लेकिन हाल ही में यूपी से एक बड़ी खबर ये आ रही है कि मुस्लिम धर्म के ठेकेदारों का ये कहना है कि मुस्लिम महिलाओं का बाल कटवाना नाजायज है। आइये खबर पर एक नजर डालते हैं….

खबर के मुताबिक, यूपी के सहारनपुर में दारुल उलूम देवबंद के फतवा विभाग ने मुस्लिम महिलाओं और मर्दों के आईब्रो बनवाने को नाजायज करार दिया है। जी हाँ, साथ ही फतवा विभाग ने ये भी कहा कि बिना वजह महिलाओं के बाल कटवाने को भी गलत है।

नहीं कटवा सकती मुस्लिम महिलाएं बाल…..

आपको बता दें कि जब एक व्यक्ति ने फतवा विभाग से सवाल किया कि क्या मुस्लिम महिलाएं आईब्रो बनवा सकती हैं और बाल भी कटवा सकती है? तो फतवा विभाग ने जवाब देते हुए कहा कि इस्लाम में इसकी इजाजत नहीं है।

 

क्या है पूरा मामला……

आपको बता दें कि फतवा विभाग ने मुस्लिम महिलाओं का आईब्रो बनवाना नाजायज करार दिया है। विभाग का ये भी कहना है कि इस्लाम धर्म में हुजूर पाक ने जिन 10 बातों के लिए मनाही की है उनमें महिलाओं का आईब्रो बनवाना और बाल कटवाना दोनों ही शामिल है।

बहरहाल, अब देखना ये होगा कि आखिर मुस्लिम महिलाओं को लेकर सुनाया गया ये फरमान अब किस मोड़ पर जाकर रूकता है, ये तो खैर वक्त ही बताएगा।