सवाल 122- अपने गुस्से को कैसे शांत कर सकते है?

health
सवाल 122- अपने गुस्से को कैसे शांत कर सकते है?

गुस्सा आजकल हर किसी के लिए एक बहुत बड़ी समस्या है. किसी को ज्यादा गुस्सा आने की समस्या है, तो किसी को इस गुस्से को बर्दाश्त करना पड़ता है. क्या आप गुस्से में आकर किसी को भी कुछ भी बोल देते है और फिर बाद में उसी बात को लेकर आपको पछताना पड़ता है, या फिर किसी भी बात को लेकर आप इतने गुस्सा हो जाते है कि आपके बनते काम भी बिगड़ जाए. अगर आपको गुस्सा आता है और आप इस आदत से तंग आ चुके है, तो लीजिए हम आपको बता देते है कि आप इससे छुटकारा कैसे पा सकते है.

गुस्से को शांत करने के तरीके

गुस्से का एक मुख्य कारण व्यक्ति के तनाव में रहने से होता है. इसे शांत करने का सबसे आसान तरीका है कि आपनी मांसपेशियों को रिलैक्स करें. जिसके बाद गहरी सांसे लें. और दो मिनट के लिए बिल्कुल चुप हो जाएं कुछ देर तक आप खुद को शांत पाएगें.

आप अपनी आंख बंद कर गहरी सांस ले, साथ ही सोचिए कि तनाव आपसे दूर जा रहा है. जैसे-जैसे आप यह सोचेंगे, तो सही में तनाव आपसे दूर होगा और मन शांत रखे.

भले ही आपको यह जानकर हैरानी होगी, लेकिन जब भी आप तनाव या गुस्से की गिरफ्त में होगें. तो आप कोई परफ्यूम या डियो का इस्तेमाल करें. या फिर इसके अलावा आप ताजातरीन फूलों की महक लें. चंद सेकंड में तनाव और गुस्सा दूर हो जाएगा.

आप अपने गुस्से को शांत करने के लिए ठंडा पानी पीकर उल्टी गिनती गिनना भी एक पुरानी तरकीब है जो बहुत ही कारगर भी होती है. इसे आप अपने जीवन में एक बार आजमाकर देखें. इसे अपनाकर आप सकारात्मक विचारों को अपनाकर बहुत ही आसानी से मन को शांत रख सकते है.


हास्य पढ़ना, देखना या सुनना, दोनों ही स्थिति में कुछ ही पल में आपका गुस्सा दूर कर आपको हंसाने में सहायक हो सकता है. इसलिए कॉमेडी को अपने जीवन का हिस्सा जरूर बनाएं और खुश रहें.

पैदल चलना, एक्सरसाइज या योगा, किसी भी तरीके से शारीरिक कसरत आपको तनावमुक्त और गुस्से से कोसों दूर रख सकती है, इन्हें अपने जीवन में अनिवार्य रूप से शामिल करें.

यह भी पढ़ें : सवाल 121- असुरक्षित यौन संबंध के कितने दिन बाद गर्भावस्था जांच कर सकते हैं ?

मेडिटेशन यानि ध्यान तनावमुक्त रहने के साथ ही मन की स्थायी शांति के लिए एक बेहतरीन टॉनिक की तरह कार्य करता है और आपकी मानसिक क्षमताएं भी बढ़ाता है. इसी के साथ आप गाने भी सुन सकते है क्योंकि गाना सुनना भी गुस्से को कम करने में बहुत ही मददगार होता है.