अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे का भारत पर क्या प्रभाव होगा ?

0
156
अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे का भारत पर क्या प्रभाव
अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे का भारत पर क्या प्रभाव

अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे का भारत पर क्या प्रभाव होगा ? ( What will be the impact of Taliban occupation of Afghanistan on India? )

अमेरिका द्वारा अफगानिस्तान से अपनी फौज को वापस बुलाने के फैसले तथा इस प्रक्रिया के शुरू करने के बाद वहां के हालात बद से बदत्तर होते जा रहे हैं. अफगानिस्तान के कई इलाकों पर तालिबान का कब्जा हो गया है. जिस पर भारत सरकार भी अपनी निगाह बनाए हुए है तथा इससे रोकने के लिए कूटनीतिक प्रयास भी कर रही है. इन सबके बीच लोगों के मन में यह सवाल आता है कि अगर अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा हो भी जाता है, तो हमारे ऊपर इसका क्या प्रभाव होगा ? तालिबान के बढ़ते प्रभाव से भारत को चिंतित होने की जरूरत क्यों है ? यह भारत के लिए किस तरह खतरनाक साबित हो सकता है ? इस पोस्ट में आपके सभी सवालों के जवाब मिल जाएगें.

तालिबान

तालिबान क्या है ?

तालिबान शब्द की बात करें, तो यह पश्तो भाषा का शब्द है. जिसका अर्थ होता है छात्रा या कहें कि ऐसे छात्र जो इस्लाम धर्म की शिक्षाओं के प्रति कट्टर हों. अफगानिस्तान में अगर इसकी शुरूआत की बाद करें, तो यह 1990 के दशक में शुरू हुआ था. आरंभ में तालिबान द्वारा ऐलान किया गया कि उनका उद्देश्य विदेशी शासन को खत्म करना है तथा एक इस्लामिक राज्य स्थापित करना है. शुरुआत में वहां के लोगों को इनमें एक मसीहा दिखाई देता था. लेकिन धीरे धीरे जब इनकी कट्टरता सामने आने लगी तो वे इससे छुटकारा पाना चाहते थे. लेकिन तब तक इसकी जड़े इतनी फैल गई थी कि इसे नियंत्रित करना आसान ना था या कहें कि इससे छुटकारा पाने की लोगों की उम्मीद दम तोड़ चुकी थी.

तालिबान

2001 में अमेरिका पर हुए हमले के बाद अमेरिका ने लादेन की तलाश में अफगानिस्तान में प्रवेश किया तथा तालिबान की सत्ता को खत्म किया. हालांकि अमेरिका की सेना भी इसे पूरी तरह खत्म नहीं कर पाई. अभी हाल ही में अमेरिका द्वारा अपनी सेना को वापस बुलाने के कारण तालिबान ने फिर से सिर उठाना शुरू कर दिया है तथा दिन प्रतिदिन अफगानिस्तान में उसका प्रभाव बढ़ता ही जा रहा है.

यह भी पढ़ें: विश्व में सबसे तेज़ ट्रेन कौन -कौन से देश में चलती है?

अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे का भारत पर क्या प्रभाव होगा ?

अगर अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा होता है, तो इसके कारण भारत पर भी बहुत प्रभाव पडेगा. भारत पिछले 20 साल में अरबों डॉलर अफगानिस्तान के विकास में निवेश कर चुका है. स्कूल, अस्पताल, बिजली-गैस संयंत्रों समेत कई बड़ी परियोजनाओं पर भारत ने काफी खर्च किया है. तालिबान शासन आने से ये सब खतरे में पड़ जाएगा. इसके साथ ही ऐसे माहौल में अफगानिस्तान भी भारत से बहुत उम्मीद लगाए है. अगर अफगानिस्तान में तालिबान का कब्जा होता है, तो इससे भारत के लिए आतंकवाद बढ़ने के खतरे बढ़ जाएगें. पाकिस्तान भी इस स्थिति का लाभ उठाएगा. इसके अलावा अफगानिस्तान या मध्यएशिया में अगर हालात खराब होते हैं, तो इसका प्रभाव भारत पर सीधे तौर पर पड़ेगा.

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.