वाराणसी में निर्माणाधीन फ्लाईओवर के दो बीम गिरने से कई लोगों की मौत और कई घायल, पीएम ने जताया दुख

वाराणसी: कैंट रेलवे स्टेशन के पास बन रहें निर्माणाधीन फ्लाईओवर बीते शाम तक़रीबन 5.20 बजे दो बीम गिर पड़े. इस बीम के गिरने से 18 लोगों की मौत हुई है, और तीस से अधिक लोग घायल हुए है. बीम के नीचे एक महानगर सेवा की बस सहित एक दर्जन वाहन दब गए. सरकार ने इस हादसे में मृतक के परिजनों को 5 लाख रूपये और घायलों को 2 लाख रूपये की सहायता प्रदान करने की सिफारिश की है.

इस मंगलवार वाराणसी में फ्लाईओवर के निर्माण में बरती जा लापरवाही से एक बड़ा हादसा हुआ है. बिना रूट डायवर्जन के पिलर पर रखी जा रहीं दो बीम गिरने से आस-पास की जगह में हडकम मच गई. बहरहाल, घायलों का बीएचयू के ट्रॉमा सेंटर सहित शहर के अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है. जैसे ही इस सूचना के बारे में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को पता चला तो वह शहर के लिए रवाना हो गए. इसके बाद वह घायलों से मिलने अस्पताल भी गए. बता दें कि राहत और बचाव कार्य करीब चार घंटे तक चला और दोनों बीम को मौके से हटाने में एनडीआरएफ, सेना, पुलिस, पीएसी व स्थानीय लोगों की मदद ली गई. इस घटना  को लेकर प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और राष्ट्रपति ने अपना दुख व्यक्त किया है. इस पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक जांच समिति भी गठित की है जो इस मामले को देखेगी.

आपको बता दें कि कैंट स्टेशन की इस घटना में बीम के नीचे एक रोडवेज बस, एक बोलेरो, दो कार, एक आटो रिक्शा और चार बाइक दब गईं थीं. नौ क्रेन की मदद से इस बीम को हटाया गया . इस मामले का मुख्य वजह निर्माण निगम द्वारा लापरवाही से काम का संचालन किया जाना. और ट्रैफिक डायवर्जन किए बिना ही निर्माण कार्य किया जा रहा था.

जैसे ही इस हादसे के बारे में पीएम नरेंद्र मोदी को पता चला तो उन्होंने ट्वीट कर गहरा दुख जताते हुए कहा कि इस निर्माणाधीन फ्लाईओवर के गिरने के वजह से लोगों की जान गई इससे सुन कर काफी दुख हुआ. मैं प्रार्थना करता हूं कि घायल जल्द ही ठीक हो जाएं. उन्होंने अधिकारियों को प्रभावित लोगों को हर प्रकार की संभव सहायता सुनिश्चित करने के लिए कहा है. मैंने इस मामले के बारे में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी बात की है, सरकार इस मामले पर पूरी निगरानी कर रही है और प्रभावित लोगों की सहायता के लिए जमीन पर काम कर रही है.

राष्ट्रपति भवन की ओर से भी एक ट्वीट कर शोक संवेदना जारी की गई. वाराणसी में फ्लाईओवर निर्माण के गिर जाने की दुर्घटना सुनकर काफी ज्यादा दुख हुआ. प्रशासन द्वारा बचाव कार्य और घायलों की सहायता के सभी प्रयास किये जा रहे है.