सरोज खान के Bollywood के सबसे बड़े Choreographer बनने का सफर देखिए

जिसने हिरोइंस को अपनी उंगलियों पे नाचना सिखाया, थिरकना सिखाया, गाने के बोल के साथ अदाओं से रिझाना सिखाया, आज वह डांस गुरु इस जहाँ से विदा हो गयी, सरोज खान, इंडियन फ़िल्म इंडस्ट्री की शायद पहली ऐसी फीमेल कोरियोग्राफर जिन्हे इतनी जान पहचान, इज्जत और शोहरत हासिल हुई, इस इंडस्ट्री,, इस दुनिया से रुख़सत हो गयी मगर अपने पीछे एक बहुत बड़ी विरासत छोड़ गयी हैं

2020 बेशक तोर बॉलीवुड के लिए काफी ही बुरा वक़्त लाया है। एक एक कर बॉलीवुड के बेहतरीन कालकर दुनिया को अलविदा कह रह रहे है। आज की सुबह भी बॉलीवुड को सदमे में डालने वाली खबर लाया देश की दिग्गज कोरियोग्राफर सरोज खान ने मुंबई के बांद्रा स्थित गुरु नानक अस्पताल में अपनी आखिरी सांस ली। काफी दिन से उनकी बीमार होने की खबर आरही थी। 17 जून को सांस की दिक्कत के कारण हॉस्पिटल में भर्ती हुईं सरोज खान की शुक्रवार को कार्डियक अरेस्ट के कारण निधन हो गया है। कोरियोग्राफर सरोज खान ने 71 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कहा.

आपको बताना चाहेंगे की सरोज खान ने तीन साल की उम्र में एक बैकग्राउंड डांसर के रूप में काम करना शुरू किया था, को 1974 में ‘गीता मेरा नाम’ के साथ उन्हें कोरियोग्राफर के रूप में बॉलीवुड पहला ब्रेक मिला। इतना ही नहीं बॉलीवुड की Ace कोरियोग्राफर सरोज खान ने तीन बार के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस के लक्षण नहीं दिखने पर कैसे पता चलेगा कि कौन संक्रमित

बॉलीवुड में ऐसा कोई कलाकार नहीं था जिसको सरोज खान ने अपने इशारो पर न नचाया हो , उन्होंने बहुत से उम्दा कलकारों के साथ लम्बे 3 दशक तक आपने डांस का जादू बिखेरा।, सरोज कहाँ ने बॉलीवुड में एक लम्बा वक़्त बिताया , उन्होंने माधुरी दीक्षित श्रीदेवी , करीना कपूर से लेकर अलिअ भट्ट जैसे अभिनत्री को choreography किया। उनका जैसे डांस choreographer शायद ही बॉलीवुड में अब मौजूद होगा। उनका इस तरह जाना बॉलीवुड के साथ साथ उनके लाखो फैंस के लिए एक बहुत बड़ा सदमा है जो उन्होंने अपनी इंस्पिरेशन के तौर पर देखते थे.