मेघालय में पहली बार एनडीए की सरकार, कॉनराड संगमा ने ली मुख्यमंत्री की शपथ

मेघालय में पहली बार एनडीए की सरकार बनी है। कॉनराड संगमा को राज्य का नया मुख्यमंत्री बनयाा गया है। संगमा ने मंगलवार को शिलॉन्ग में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उनके साथ 11 अन्य नेताओं ने भी मंत्री पद की शपथ ली। अब मेघालय में बीजेपी और एनपीपी के गठबंधन की सरकार है। राजनाथ सिंह ने शपथ-ग्रहण समारोह के मौके पर कहा, ‘मैं संगमा को बधाई देना चाहता हूं। लोग सोचते थे कि उत्तर-पूर्व में केवल कांग्रेस ही सरकार बना सकती है, लेकिन बीजेपी ने यहां जीत हासिल करके यह साबित कर दिया कि ऐसा नहीं है।’ एनपीपी के अध्यक्ष कोनराड संगमा ने सोमवार को जानकारी दी थी कि मेघालय के राज्यपाल गंगा प्रसाद ने राज्य में सरकार बनाने के लिए उन्हें आमंत्रित किया है। संगमा ने कहा था, ‘‘मेरे पास संख्याबल होने के कारण राज्यपाल ने राज्य में सरकार बनाने के लिए मुझे आमंत्रित किया है।’’ इसकी पुष्टि करते हुए राज भवन के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘राज्यपाल ने सरकार बनाने के लिए कोनराड संगमा को आमंत्रित किया है, क्योंकि उनके पास 34 विधायकों का समर्थन है।’’ संगमा ने रविवार की शाम गंगा प्रसाद से मुलाकात की थी और 60 सदस्यीय विधानसभा में 34 विधायकों के समर्थन से सरकार बनाने का दावा पेश किया था।

संगमा ने बताया, ‘‘हमने राज्यपाल से मुलाकात की और 34 विधायकों के समर्थन का पत्र पेश किया जिसमें 19 विधायक एनपीपी के, छह यूनाईटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट, चार पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी, दो हिल स्टेट डेमोक्रेटिक पार्टी (एचएसपीडीपी), दो भाजपा के और एक निर्दलीय विधायक है।’’ कोनराड संगमा (40) पूर्व लोकसभा अध्यक्ष पी ए संगमा के सबसे छोटे बेटे हैं। 2016 में पी ए संगमा के निधन के बाद कोनराड तूरा संसदीय क्षेत्र से लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए थे। एनपीपी केंद्र और मणिपुर में भाजपा की सहयोगी पार्टी है। पिछले दस वर्षों से राज्य की सत्ता में रही कांग्रेस को 27 फरवरी को 59 सीटों पर हुए मतदान में 21 सीटें हासिल हुई थीं। यह आंकड़ा सामान्य बहुमत से दस कम है। कांग्रेस के पार्टी पदाधिकारियों और नेताओं ने कहा कि राज्यपाल के साथ बैठक में उन्होंने सरकार बनाने का दावा पेश किया था। कांग्रेस के तीन केंद्रीय नेताओं — कमलनाथ, अहमद पटेल और सी पी जोशी के प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को राज्यपाल से मुलाकात की थी।