अब NRA द्वारा होगी गैर-राजपत्रित पदों पर भर्ती

सबसे पहले जानते हैं राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) क्या है ?
यह एक संस्था होगी जो गैर-राजपत्रित पदों के लिए परीक्षा लेगी.अभी आप सोच रहें होंगे कि कि सभी गैर-राजपत्रित पदों के लिए NRA परीक्षा लेगी. फिर अभी SSC , IBPS काफी संस्थाएँ हैं जो सरकारी नौकरी के लिए परीक्षा लेकर भर्ती प्रक्रिया पूरी करती हैं. उनका क्या होगा ? क्या वो सब खत्म कर दी जाएगी ? जी नहीं….

यह भी पढ़ें: यहाँ समझे क्या हैं Income Tax की नई और पुरानी कर दरें.


आगे बढने से पहले यहाँ ये जानना जरूरी है कि राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) पूरी भर्ती प्रक्रिया नहीं करेगी.जिस तरह अध्यापक के पद के लिए आवेदन करने के लिए हमें c-tet, H-tet की पात्रता परीक्षा पास करनी होती है , ठीक वैसे ही NRA सिर्फ CET( Common eligblity test) ही कराएगी.जिसमें पास होने के बाद जो फॅार्म निकलेगें उनके लिए आप आवेदन कर सकते हैं. एक तरीके से यह प्री-परीक्षा होगी. उसके बाद जो mains परीक्षा जो होगी वो ssc , ibps जैसी संस्थाएं ही कराएगीं. इसकी परीक्षा आप साल में 2 बार दे पाएगें. हर जिलें
NRA 10 , 12 और स्नातक स्तर की जॅाब के हिसाब से अलग- अलग परीक्षा लेगी. इसका मतलब यह है कि 10 स्तर की परीक्षा पास करने के बाद आप 10 लेवल की , 12 स्तर की परीक्षा पास करने के बाद आप 12 लेवल की, उसी तरह स्नातक स्तर की परीक्षा पास करने के बाद आप स्नातक स्तर की जॅाब के लिए आवेदन कर पाएंगें.
अब जानते हैं कि इसकी आवश्यकता क्यों पड़ी.
काफी संस्थाएं नौकरी के लिए अलग- अलग विज्ञापन देती हैं. उनका समय भी अलग होता है.पूरे साल युवा नौकरी के लिए आवेदन करते रहते हैं. काफी बार तो 2 परीक्षा एक साथ आ जाती हैं. सबके लिए फीस देनी पड़ती हैं वो अलग. राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) को स्थापित करने का विचार किया गया. यहाँ हम आपको ये भी बता दें कि अभी जो विज्ञापन निकलें हुए हैं उन पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. देखना ये है कि इसको शुरू होने में कितना समय लगता है.


अब इसके कुछ फायदें देखते हैं.

  1. परीक्षा देनें के लिए दूर-दराज के क्षेत्रों में नहीं जाना पड़ेगा.
  2. परीक्षा देने वालों की भीड़ नहीं होगी क्योंकि इससे जो सीरियस candidate ही नौकरी के लिए आवेदन कर पाएंगें.
  3. candidate का ज्यादा समय खराब नहीं होगा क्योंकि उनको इस एक परीक्षा पर ही ध्यान देना होगा.
  4. हर परीक्षा के लिए जो आवेदन फीस देनी पड़ती थी, वो नहीं देनी पड़ेगी.
  5. सरकार को जो हर परीक्षा के लिए जो व्यवस्था करानी पड़ती थी, उससे छुटकारा मिलेगा.
  6. भ्रष्टाचार की भी संभावना कम होगी क्योंकि अब सिर्फ एक संस्था पर निगरानी रखनी होगी.
    हमें उम्मीद है आप राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) के बारे में समझ गए होगें.