बूढ़ी आबादी से परेशान हुआ चीन, अब चाहता है भारत जैसी युवा जनसंख्या

चीन पुरी दुनिया में न केवल अपनी आर्थिक ताकत के लिए मशहूर है बल्कि अपनी आबादी के हिसाब से भी वह दुनिया में सबसे बड़ा देश है। लकिन चीन अब अपनी आबादी से परेशान होने लगा है। दरअसल में चीन में बूढ़ें लोगों की जनसंख्या बहुत तेजी से बढ़ रही हैं। इसकी वजह से चीन में युवाओं की संख्या कम हो रही हैं। चीन दुनिया में महाशक्ति बनना चाहता है जिसके लिए उसके पास युवा जनसंख्या होनी बहुत जरुरी हैं जैसे भारत के पास है। इसके लिए चीन अब अपने देश के लोगों से अपील कर रहा है कि वह ज्यादा से ज्यादा बच्चे पैदा करें।

यह भी पढ़ें :  पाकिस्तान और चीन की वजह से भारत बना सबसे ज़्यादा हथियार खरीदने वाला देश

चीन नें 1979 में लागू की थी वन चाइल्ड पॉलिसी

इससे पहले अपनी बढती जनसंख्या से परेशान चीन नें 1979 में वन चाइल्ड पॉलिसी को लोगों के ऊपर लागू किया था। इस नीति में आप सिर्फ़ एक बच्चा ही पैदा कर सकते है। लेकिन पिछले सालों में चीन ने इस पॉलिसी में बहुत ढील दी है। क्योंकि चीन को डर सता रहा है की अगर उसके देश में बूढे लोगों की संख्या इसी तरह से बढ़ती रहीं तो जो सपना उसने महाशक्ति बनेने का देखा है वह पुरा नहीं हो पाएगा।

यह भी पढ़ें : डोकलाम विवाद: चीनी सेना लद्दाख से हटी पीछे, भारतीय सीमा में लगे पांचो तंबू भी हटाये

चीन के एक सरकारी अख़बार में छपे एक संपादकीय लेख में कहा गया की बच्चे पैदा करना पारिवारिक मामला है लेकिन एक राष्ट्रीय मामला भी है। इस लेख में कपल्स को ज्यादा बच्चे पैदा करने के लिए प्रोत्साहित किया गया है। इसके साथ ही युवाओं को परिवार शुरु करने के लिए सक्षम बनाने के लिए सरकार की तरफ़ से कदम उठाए जाने की अपील भी की गई है।चीन चाहता है की उसका युवाओं से भरा रहे ताकि देश हमेशा तरक्की के रास्ते पर चले

यह भी पढ़ें : चीन के सैनिक अब मोटरसाइकल से भी कर रहे हैं भारतीय सीमा में घुसपैठ

यह भी पढ़ें : प्रधानमंत्री का चीन दौरा :मिलकर आतंकवाद के खिलाफ अफगानिस्तान में शुरू करेंगे नयी परियोजना