CAA के विरोध में राष्ट्रपति के पास पहुंचा विपक्ष

CAA
CAA के विरोध में राष्ट्रपति के पास पहुंचा विपक्ष

देशभर में नागरिकता कानून को लेकर विरोध प्रर्दशन जोरों पर है। दिल्ली से लेकर आसाम तक बड़े स्तर पर इस कानून के खिलाफ प्रदर्शन जारी है। लोग इतने आग बबूला हो गए की प्रदर्शन के दौरान लोग सड़कों पर उतर आये और बहुत से छात्र, पुलिसकर्मी को गंभीर रूप से चोटे तक आयी। पहले पूर्वोत्तर के राज्यों में हिंसा भड़की, फिर दिल्ली और अब यूपी भी विरोध प्रदर्शनों की चपेट में है।

कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टी इस कानून के पुरजोर विरोध में है। लगातार सत्ता पार्टी से इस कानून को वापिस लेने की माँग की जा रही है। अब इस सन्दर्भ में एक नया रूख देखने को मिला जब नागरिकता कानून के खिलाफ सभी पार्टियों के विपक्षी नेता जैसे कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी,कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, टीआर बालू, सपा नेता रामगोपाल यादव राष्ट्रपति भवन पहुंचे हैं।

यह भी पढ़ें : SC ने हिन्दुओं को 8 राज्यों में अल्पसंख्यक दर्जा देने की याचिका को किया खारिज

इन वरिष्ठ नेता कि राष्ट्रपति से मुलाकात करने का मकसद नागरिकता कानून पर चर्चा करना है, इस पर विपक्ष का यह बयान सामने आया कि यह कानून मुस्लिम विरोधी है और किसी एक समुदय को ऐसे टारगेट करना किसी भी लिहाजे से सही नहीं है। अभी भी विरोध जोरो पर है कई मेट्रो स्टेशन प्रदर्शन की वजह से बंद है। सीलमपुर और अन्य इलाकों में CAA को लेकर दंगे तक हो रहे है।