प्रद्युम्न हत्याकांड : वापस सुप्रीम कोर्ट जाएगा प्रद्युम्न का परिवार

8 सितंबर को हरयाणा के रायन इंटरनैशनल स्कूल में 7 साल के प्रद्युम्न की बेरहमी से हत्या हुई थी | तब से लेकर अब तक प्रद्यम्न का परिवार न्याय के लिए और अपराधी को पकड़वाने के लिए जंग लड़ रहा है | पिंटो परिवार ने इस मामले को देखकर पहले ही पंजाब हरयाणा उच्च न्यायालय में अंतरिम जमानत के लिए अर्जी की थी | अब पंजाब हरयाणा उच्च न्यायालय ने पिंटो परिवार को अंतरिम जमानत दी है | इस पर प्रद्युम्न का परिवार भी सर्वोच्च न्यायालय में पंजाब हरयाणा के इस आदेश को चुनैती देगा |

वरुण के वकील ने कहा कि प्रद्युम्न हत्यकांड जांच अभी शुरवाती दौर में है | इस लिए आरोपी अपनी ताकद का इस्तेमाल करके जांच को प्रभावित करने की कोशिश भी कर सकता है | पंजाब हरयाणा उच्च न्यायालय ने 7 अक्टूबर को रयान कुल के मालिक याने के पिंटो परिवार को अग्रीम जमानत दे दी थी |

प्रद्युम्न के परिवार का कहना है कि आरोपियों ने पहले ही घटना स्थल से और बाकि जगह से सबूत मिटाने की कोशिश की है | उनका कहना है कि अभी भी आरोपियों पर दबाव लाने की कोशिश और सबूतों के साथ छेड़छाड़ की जा सकती है | इस जमानत के फैसले से जांच प्रभावित भी हो सकती है | इन मुद्दों को लेकर प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर सर्वोच्च न्यायालय से अपील करने वाले है कि पंजाब हरयाणा उच्च न्यायालय के आदेश को रद्द करे |

प्रद्युम हत्याकांड से जुड़े दो मामलो की सुनवाई सर्वोच्च न्यायलय में होगी | सोमवार को इस मामले की सुनवाई होने वाली है | इस सुनवाई में सीबीएसई के जबाब पर भी चर्चा होगी | इससे पहले सीबीईसी ने सर्वोच्च न्यायालय में हलफनामा दायर किया था | सीबीएसई ने न्यायालय को कहा कि स्कुल में गंभीर अनियमितताएं और सुरक्षा में खामिया मिली है | सीबीएसई ने आगे कहा कि अगर स्कूल ने लापरवाही नहीं बरती होती और सुरक्षा के तरफ ध्यान दिया होता तो प्रद्युम्न की हत्या नहीं होती | स्कूल प्रशासन ने इस घटना को पुलिस और शिक्षा विभाग दोनों को नहीं बताया |

सीबीएसई ने कहा कि रायन इंटरनैशल स्कूल में हुए घटना के बाद उन्होंने 9 सितंबर को एक फैक्ट फाइंडिंग कमिटी बनाई थी | कमिटी को प्रद्युम्न के मौत के कारणों की जांच करने के लिए कहा गया था और कमिटी ने अपनी रिपोर्ट पेश की थी | उस रिपोर्ट में कहा गया था कि स्कूल में सुरक्षा को लेकर बहोत गैरजिम्मेदारी बरती गयी थी | इसी के चलते 16 सितंबर को स्कूल को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया था |