राहुल गांधी ने गोडसे से की PM मोदी की विचारधारा की तुलना

PM Modi and Rahul Gandhi
PM Modi and Rahul Gandhi

आज राहुल गाँधी ने बड़ा बयान देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विचारधारा की तुलना नाथूराम गोडसे की विचारधारा से की है.जब उनका यह बयान आया तो वो कर्नाटक में “संविधान बचाओ” रैली का नेतृत्व कर रहे थे. इतना ही नहीं उन्होनें ये भी कहा कि मोदी में इतनी हिम्मत नही है. वो सबके सामने ये नही मान सकते कि वो नाथूराम गोडसे की विचारधारा रखते है


नाथूराम गोडसे कौन था ?
नाथूराम गोडसे कट्टर हिन्दू विचारधारा रखता था. इनका जन्म 19 मई, 1910 में हुआ. इन्होनें ही 30 जनवरी,1948 को महात्मा गांधी जी की गोली मारकर हत्या की थी. नाथूराम गोडसे का मानना था कि भारत और पाकिस्तान का विभाजन हुआ तब गांधी जी ने हिन्दू समुदाय की भावनाओं और समस्याओं पर ध्यान नहीं दिया. गोडसे मानते थे कि गांधी जी मुस्लिम समुदाय को ज्यादा महत्व देते थे.

उनका ये बयान महात्मा गांधी जी की पुण्यतिथि वाले दिन आया. आप जानते होगें कि आज के दिन ही 30 जनवरी,1948 को महात्मा गांधी जी की हत्या कर दी थी. जब वो संध्याकालीन प्रार्थना के लिए जा रहे थे तो बिड़ला भवन में उनकों गोली मारी गई थी. महात्मा गांधी जी की पुण्यतिथि को शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है.

यह भी पढ़ें: चिदंबरम का अमित शाह पर निशाना, कहा “गृह मंत्री ‘शाहीन बाग से चाहते है मुक्ति”

राहुल ने कहा कि मोदी जी और गोडसे की विचारधारा एक जैसी है. इससे आगे वो कहते हैं कि लेकिन मोदी जी इतनी हिम्मत भी नहीं रखते कि कभी सबके सामने ये भी बोल पाएँ. जब गांधी जी 30 जनवरी,1948 को बिड़ला भवन से संध्याकालीन प्रार्थना के लिए निकले तब नाथूराम गोडसे ने पहले उनके चरण स्पर्श किए. फिर गोली मारकर हत्या कर दी.गांधी जी के अतिंम शब्द थे “हे राम”.