Rajya Sabha Election: जिन्हें जिताने के लिए राहुल गांधी ने किया था 27 मंदिरों में दर्शन, अब छोड़ रहे गुजरात में कांग्रेस का साथ

Rajya Sabha Election: जिन्हें जिताने के लिए राहुल गांधी ने किया था 27 मंदिरों में दर्शन, अब छोड़ रहे गुजरात में कांग्रेस का साथ

राज्यसभा चुनाव : गुजरात में विधायक कांग्रेस का साथ छोड़ रहे हैं.

नई दिल्ली :

Gujarat Rajya Sabha Polls : गुजरात विधानसभा चुनाव जिसमें राहुल गांधी पहली बार पीएम मोदी के सामने टक्कर देते दिखाई दे रहे थे. वह एक नए रूप में सामने आए थे और दिसंबर 2017 में इसी चुनाव के बीच में उनको कांग्रेस अध्यक्ष का बनाया गया था और 16 दिसंबर 2017 को वह कांग्रेस के अध्यक्ष बने थे. दरअसल बीच चुनाव में उनको पार्टी की कमान देने का मकसद था कि कार्यकर्ताओं में यह संदेश देना की अब राहुल देश की राजनीति में बड़ी भूमिका में आने को तैयार हैं. दूसरी ओर गुजरात अगर कांग्रेस कामयाब हो जाती तो पीएम मोदी के अजेय होने की भी छवि को नुकसान पहुंचता जिसका फायदा साल 2019 के लोकसभा चुनाव में भी पड़ता.  इस दौरान राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस ने सॉफ्ट हिंदुत्व का चोला भी धारण किया था और राहुल गांधी  के गुजरात चुनाव प्रचार के दौरान 27 मंदिरों में जाकर पूजा-अर्चना की. इसके बाद राजस्थान में विधानसभा चुनाव प्रचार में जनेऊ भी धारण किए नजर आए थे.

हालांकि गुजरात में बीजेपी ने ही सरकार बनाई थी लेकिन कांग्रेस ने कई सर्वेक्षणों के झूठ बताते हुए पिछली बार के मुकाबले ज्यादा सीटें दर्ज की थीं. बीजेपी ने 182 सदस्यीय विधानसभा में साधारण बहुमत हासिल करते 99 सीटें जीती थीं. जबकि बहुमत के लिए 92 सीटों की ही जरूरत थी. वहीं कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों ने 80 सीटें जीती हैं जिसमें 77 सीटें कांग्रेस के खाते में गई हैं. राज्य में साल 2012 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 115 और कांग्रेस को 61 सीटें हासिल हुई थीं. कांग्रेस को इस हार में भी अपनी जीत  दिखी थी.

लेकिन गुजरात में अब बीते 3 सालों में हालात बहुत बदल गए हैं.19 जून को गुजरात की 4 राज्यसभा सीटों के चुनाव से पहले कांग्रेस को झटके पर झटका लग रहा है.  शुक्रवार को कांग्रेस एक और विधायक ब्रजेश ने भी विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. वह तीसरे ऐसे विधायक हैं जो हफ्ते भर में इस्तीफा दे चुके हैं. ब्रजेश मोरबी सीट से विधायक चुने गए थे. ब्रजेश ने विधायक पद से इस्तीफा देने से पहले ही कांग्रेस से भी इस्तीफा दे दिया था.

आपको बता दें कि मार्च के महीने में राज्यसभा की इन सीटों के लिए चुनाव का ऐलान हुआ था तब से लेकर अब तक कुल कांग्रेस के 5 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं. इसके साथ ही राज्यसभा में इस सीट से दूसरी सीट की संभावनाओं को खोती नजर आ रही है. कांग्रेस की अब विधानसभा में 66 सीटें बची हैं.  बीजेपी ने अभय भारद्वाज, रमीलाबेन बारा और नरहरि अमीन को मैदान में उतारा है, जबकि कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता शक्तिसिंह गोहिल और भरतसिंह सोलंकी को उम्मीदवार बनाया है.

Source link