इस फिल्म में डब की गई थी Rani Mukerji की आवाज

इस फिल्म में डब की गई थी Rani Mukerji की आवाज

नई दिल्ली: ‘नो वन किल्ड जेसिका’ की मीरा गैटी हो या फिर ‘मर्दानी’ की शिवानी शिवाजी रॉय, रानी मुखर्जी ने बड़े पर्दे पर अपने स्ट्रॉंग करेक्टर से सबके दिलों को जीता है. रानी मुखर्जी ने फिल्म ‘राजा की आएगी बरात’ से डेब्यू किया था हालांकि इससे पहले बांग्ला में उन्होंने फिल्म ‘बियेर फूल’ की थी. फिल्म में रानी ने सहायक अभिनेत्री का किरदार निभाया था. इस फिल्म को रानी के पिता राम मुखर्जी ने निर्देशित की थी 90 के दशक में डायरेक्टर्स की पहली पसंद रहने वाली रानी ने ‘गुलाम’, ‘हद कर दी आपने’, ‘कुछ कुछ होता है’ जैसी कई सुपरहिट फिल्में दी हैं. आमिर खान के साथ आई फिल्म गुलाम में रानी के काम को काफी पसंद किया गया था. लेकिन क्या आपको पता है कि उनकी आवाज को फिल्म में डबिंग आर्टिस्ट मोना शेट्टी से डब करवाया गया था.

एक इंटरव्यू के दौरान रानी ने अपनी अलग आवाज के बारे में बात की थी. उन्होंने बताया था, ‘राजा की आएगी बारात में मैंने अपनी आवाज दी थी. गुलाम में आमिर खान, मुकेश भट्ट और विक्रम भट्ट को लगा कि मेरी आवाज में वो बात नहीं है, जो उस समय हीरोइनों की आवाज में होता था. आमिर ने मुझसे बात की और कहा तुम श्रीदेवी की फैन हो और उनकी आवाज को बहुत सारी फिल्मों में डब किया गया था. तो इससे कुछ नहीं होता. हमें फिल्म की अच्छाई के लिए सबकुछ करना चाहिए. रानी के मुताबिक बाद में आमिर खान ने फिल्म गुलाम में उनकी आवाज ना लेने के लिए माफी भी मांगी थी.

शादी के बाद रानी ने एक इंटरव्यू में बताया था, ‘जब आदित्य पहली बार उन्हें डेट पर ले गए थे तो घर आकर मेरे पैरेंट्स से पूछा था कि क्या मैं आपकी बेटी को डेट पर ले जा सकता हूं. मैंने आदित्य को तब डेट करना शुरू किया था जब उनका तलाक हो गया था. वो मेरे लिए भगवान शिव की तरह हैं. जो हमेशा शांत रहते हैं. जो कभी किसी को दुख नहीं पहुंचाते हैं. वो खुश रहते हैं और उन्हें देखकर मैं भी खुश रहती हूं. रानी मुख़र्जी को ख़ुशी है की उनके फिल्मी सफर में उन्हें कई बड़े निर्देशक, निर्माता, अभिनेता और टेक्नीशियन के साथ काम करने का मौका मिला. रानी का कहना है की पहली फिल्म भले ही जादू या किसी और वजह से मिल जाती है पर दूसरी और तीसरी फिल्म सिर्फ आपके काबिलियत पर ही मिलती है.

Source link