Thursday, August 13, 2020
Home Uncategorized स्वास्थ्य (Health) न बनने के पीछे क्या कारण है?

स्वास्थ्य (Health) न बनने के पीछे क्या कारण है?

- Advertisement -

मानव शरीर बीमारियों का गढ़ है। अगर इससे जातां से नहीं रखा गया तो कई घातक रोग होने के असर बने रहते है , आज का लाइफस्टाइल काफी ज्यादा हेक्टिक हो गया है इसलिए शरीर नहीं बनता है। दिनभर लैपटॉप पर काम , करना खान-पान पर ध्यान न देना। पूरी नींद न लेना , दिन-भर काम, घर की टेंशन लेना , तनाव पूर्ण माहौल में रहना, फिजिकल एक्टिविटीज जैसे खेल -कूद , वॉक पर जाना कम करना, जंक फ़ूड का ज्यादा सेवन करना।

health issues

लाभकारी फल -वेजटेबल्स का सेवन न करना , दिन का ज्यादा वक़्त मोबाइल पर व्यतीत करना यह सभी आदत आपके हेल्थ को एफेक्ट कर सकती है , जिसके कारण आपका शरीर में खान-पान नहीं लगता और आप हेल्थी नहीं रहते

ऐसे कई फूड है जिनका सेवन कर आपका हेल्थ सुधर सकता है। मुनक्का का सेवन करने से काफी लाभ मिलते है। इसमें मैग्नीशियम, पोटेशियम और आयरन काफी मात्रा में होते हैं। मुनक्के का नियमित सेवन कैंसर कोशिकाओं में बढ़ोतरी को रोकता है। इससे हमारी स्किन भी हेल्दी और चमकदार रहती है। एनीमिया और किडनी स्टोन के मरीजों के लिए भी मुनक्का फायदेमंद है। इसी के साथ खसखस में फोलेट, थियामिन और पैंटोथेनिक एसिड का अच्छा सोर्स होता हैं।

Fruits ke fayde

इसमें मौजूद विटामिन बी मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है जिससे वजन को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। अगर आप रोज़ व्याम करेंगे तनाव मुक्त रहेंगे। आपने खान-पान पर ध्यान देंगे आपने लाइफ स्टाइल रूटीन को सुधरेंगे तो आपकी हेल्थ काफी सुधेरगी।

यह भी पढ़ें : जब एसी कमरे में कोरोना वायरस फैलने का खतरा है, तो रेलवे एसी कोच वाली ट्रेनें क्यों चला रही है ?

- Advertisement -
- Advertisment -

Most Popular

जापान के PM ने 1 ही भाषण को 2 जगह पढ़ा, भड़क गए इन शहरों के लोग

टोक्‍यो: जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे पर आरोप लगा है कि हीरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु हमले की वर्षगांठ से जुड़े दो आयोजनों...

स्वदेशी का मतलब सभी विदेशी उत्पादों का बहिष्कार नहीं: मोहन भागवत

नई दिल्‍ली: राष्‍ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत ने बुधवार को कहा कि स्वदेशी का अर्थ जरूरी नहीं कि सभी विदेशी...

DNA ANALYSIS: भारत के 1 करोड़ से ज्यादा लोगों का Made In India मुहिम को समर्थन

नई दिल्ली: चीन के खिलाफ ऐसी ही एकजुटता भारत के लोग भी दिखा रहे हैं. 30 जून को Zee News ने Made In...

DNA ANALYSIS: सुशांत के परिवार की भावुक चिट्ठी

नई दिल्ली: अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले की जांच अब सीबीआई के पास है. लेकिन दो महीने बाद भी सुशांत...