रोहतक: पीएम मोदी के 9 बजे 9 मिनट की अपील पर भी घर की लाइट नहीं बुझाने को लेकर मुस्लिम परिवार पर हमला

crimenews
रोहतक:पीएम मोदी के 9 बजे 9 मिनट की अपील पर भी घर की लाइट नहीं बुझाने को लेकर मुसलमान परिवार पर हमला

पीएम मोदी के 9 बजे 9 मिनट की अपील पर भी घर की लाइट नहीं बुझाने को लेकर मुसलमान परिवार पर हमला

हरियाणा के जींद के एक कस्बे में रविवार को कुछ लोगों ने अपने पड़ोस में रहने वाले चार मुस्लिम भाई-बहनों पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। मामला ठाठरथ कस्बे का है जहां रविवार की रात, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर, हिंदू पड़ोसियों ने घर के बाहर रोशनी नहीं करने के लिए हथियारों के साथ उनके साथ रहने वाले चार मुस्लिम भाई-बहनों पर हमला किया।

चार भाई-बहनों – 36 वर्षीय बशीर खान, 34 वर्षीय सादिक खान, 32 वर्षीय नजीर खान, और 30 वर्षीय संदीप खान – को हमले में घायल हुए है। वह वर्तमान में जींद में एक आपातकालीन क्लिनिक में भर्ती कराया गया है.

पीएम मोदी के 9 बजे 9 मिनट

पुलिस महानिरीक्षक अश्विन शेणवी ने बताया कि अभी चार व्यक्तियों के खिलाफ FIR दर्ज कर लिया है और उन्हें पकड़ लिया है।उनका कहना है कि अभी पूरे मामले की जांच जारी है, अभी और जानकारी मिलने की उम्मीद है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी देशवासियों से अपील की थी कि करोना के ख़िलाफ़ लड़ाई में एकजुटता दिखाने के लिए वो रविवार रात 9 बजे 9 मिनट के लिए अपने घरों की बत्तियां बुझा कर बालकनी में दीये या मोमबत्ती जलाएं.

घायल भाइयों में से एक बशीर ख़ान ने बताया कि 5 अप्रैल की शाम 9 बजे वो प्रधानमंत्री मोदी की अपील का पालन कर रहे थे, लेकिन उस वक्त घर के बाहर जलने वाले बल्ब को बुझाने के कारण उनके पड़ोसियों ने उनके साथ गाली गलौच की.

वो कहते हैं दोनों पक्षों के बीच रात को कहसुनी भी हो गई लेकिन उसके बाद मामला ठंडा पड़ गया. लेकिन अगले दिन सवेरे उन्होंने अपने हिंदू पड़ोसियों से बात की और गाली गलौच करने की वजह जाननी चाही तो उनके पड़ोसियों ने उन पर हमला कर दिया.

वो कहते हैं कि इसके बाद क़रीब दर्जन भर पड़ोसियों ने पास ही कुर्सी पर बैठे उनके छोटे भाई सादिक़ ख़ान पर धारदार हथियार से हमला कर दिया. सादिक ख़ान के घायल होने के बाद दोनों पक्षों के बीच लड़ाई शुरु हो गई.

 मुस्लिम परिवार पर हमला

वहीं ख़ान भाइयों के पड़ोसी संजय कुमार ने दोनों के बीच झगड़े का कारण बताते हुए कहा कि ख़ान भाइयों ने प्रधानमंत्री की रात 9 बजे दीया जलाने की अपील की इज़्ज़त नहीं की.

वो आरोप लगाते हैं, “सभी पड़ोसियों ने अपने घरों की बत्तियां बुझा दी थीं लेकिन इन भाइयों ने ऐसा नहीं किया. हमने उन्हें बत्ती स्विच ऑफ़ करने के लिए कहा और इस बात पर उनसे बहस हो गई. हमने देखा था कि उन्होंने बाहर से आए एक व्यक्ति को भी अपने घर पर रखा था. जब हमने उनसे पूछा तो वो हमसे झगड़ने लगे.”

गांव के प्रमुख रामकेश कुमार कहते हैं कि अगर सभी लोगों ने अपने घरों की सभी बत्तियां बंद कर दी होतीं तो हिंदू और मुसलमान परिवारों के बीच के इस झगड़े को टाला जा सकता था.

यह भी पढ़ें : इंदौर: महामारी में भगवान बनें डॉक्टर पर ही हमले, पागलपन या देश को बर्बाद करने की साजिश

वहीं मामले की जाँच कर रहे पुलिस अधिकारी राकेश कुमार कहते हैं कि घटनास्थल पर पहुंचने के बाद उन्हें पता चला है कि मुसलमान परिवार ने प्रधानमंत्री मोदी की अपील पर दीये जलाए थे लेकिन घर के बाहर का एक बल्ब ग़लती से बंद करना वो भूल गए थे. वो कहते हैं अभी मामले की जांच जारी है.

Source – BBC Hindi

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi .