Home खेल जानिये, कैसे यह संडे साबित हुआ 'सुपर संडे' !

जानिये, कैसे यह संडे साबित हुआ ‘सुपर संडे’ !

- Advertisement -

क्रिकेट से हटकर अन्य खेलो में भी भारतीयों ने धमाल मचाया है । भारतीय खेल प्रेमियों के लिए लगातार दूसरा रविवार ‘सुपर संडे’ साबित हुआ।

बैडमिंटन: इतिहास रचा
लगातार दो हफ्तों में दो सीरीज ख़िताब जीतकर किदाम्बी श्रीकांत ने इतिहास रच दिया । उनके साथ ही बी साई प्रणीत और एचएस प्रणय ने हाल में मिलकर विश्व के नंबर एक खिलाड़ी, ओलिंपिक चैंपियन, रनरअप और ऑल इंग्लैंड चैंपियन को धूल चटाई। साथ ही तीन बड़े खिताब भी जीते । बी साई प्रणीत ने इसी महीने थाईलैंड ओपन पर कब्जा किया था । इतना ही नहीं, विश्व के टॉप-25 खिलाडियों में चार भारत के है।

बैडमिंटन: इतिहास रचा

टेनिस: बोपन्ना की जीत
स्टार खिलाड़ी रोहन बोपन्ना ने साल के दूसरे ग्रैंड स्लैम फ्रेंच ओपन में शानदार प्रदर्शन कर मिक्स्ड डबल्स का खिताब जीता । उन्होंने कनाडा की जोड़ीदार गैब्रियला डाब्रोवस्की के साथ फाइनल में जर्मनी की अना ग्रोनफिल्ड और कोलंबिया के रॉबर्ट फराह को हराया । इसके साथ ही बोपन्ना ने करियर का पहला ग्रैंड स्लैम हासिल किया। वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले चौथे भारतीय बने ।
रामकुमार रामनाथ ने 5 जून को सिंगापुर में खेले गए आईटीएफ फ्यूचर्स ख़िताब जीता ।

टेनिस: बोपन्ना और रामकुमार रामनाथ की जीत


हॉकी: पाक पर जीत

भारतीय पुरुष हॉकी टीम भले ही वर्ल्ड लीग सेमीफाइनल में छठे स्थान पैर रही लेकिन इस टूर्नामेंट में पाकिस्तान को जमकर धोया । भारत की 18 जून को पाक से पहली भिड़ंत लीग मुकाबले में हुई । भारतीय टीम ने पाक पर 7-1 से विशाल जीत दर्ज की । इसके बाद क्लासिफिकेशन मुकाबले में भारत ने पाकिस्तानी टीम को फिर 6-1 से करारी शिकस्त दी । इस हार से पाक 2018 की शुरुआत में भारत में होने वाले हॉकी विश्व कप के लिए क्वालीफाई नहीं कर सका ।

हॉकी: पाक पर जीत

फुटबॉल: फिर टॉप 100 में भारत
21 साल के लम्बे अंतराल के बाद भारत की फुटबॉल टीम फीका रैंकिंग में फिर 100वें पायदान पर पहुंची । इससे पहले फरवरी 1996 में भारतीय टीम अपनी अभी तक की सर्वश्रेष्ठ 94 रैंकिंग पर पहुंची थी । 13 जून को भारतीय टीम ने बेंगलुरु में खेले गए एएफसी एशियाई कप 2019 क्वालिफायर मुकाबले में किर्ग़िज़स्तान को 1-0 से हराया । अंतराष्ट्रीय मैचों में भारत की यह लगातार आंठवी जीत थी।

फुटबॉल: फिर टॉप 100 में भारत


मुक्केबाजी: 19 साल के अंकुश बने हीरो

भारतीय मुक्केबाज अंकुश दहिया ने रविवार को मंगोलिया में उलानबटोर कप मुक्केबाजी टूर्नामेंट के अंतिम दिन जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया । इस जीत के साथ ही उन्होंने टूर्नामेंट में भारत की एकमात्र स्वर्ण पदक भी दिलाया । हालांकि अनुभवी मुक्केबाज एल देवेंद्रो सिंह को फाइनल में हार का सामना करना पड़ा और उन्होंने रजत पदक से संतोष किया । भारत ने इस तरह स्वर्ण, रजत, और तीन कांस्य पदक के साथ इस टूर्नामेंट का अभियान किया ।

मुक्केबाजी: 19 साल के अंकुश बने हीरो साथ ही एल देवेंद्रो सिंह ने की जीत हासिल

- Advertisement -
mm
Neha Jangra
Journalist

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Alia Bhatt’s coral Mara Hoffman off-shoulder dress can buy you Samsung Galaxy Note10 lite

Alia Bhatt celebrated her mom Soni Razdan's birthday on Sunday in...

बिहार चुनाव 2020: आज थम जाएगा पहले चरण का चुनाव प्रचार, जुबानी हमले हुए तेज

पटना: बिहार चुनाव (Bihar Elections 2020) में पहले चरण का प्रचार आज शाम थम जाएगा. इस देखते सभी पार्टियों ने अपना चुनाव प्रचार...

Azerbaijan-Armenia clash: US announces new ceasefire as fighting persists

The United States on Sunday said a new humanitarian ceasefire will...