दावोस में शाहरुख खान ने बहन-बेटी और पत्नी को दिया कामयाबी का श्रेय

बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान को दावोस में आयोजित हो रहे वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (डब्ल्यूईएफ) सम्मेलन में क्रिस्टल पुरस्कार से सम्मानित किया गया. किंग खान को यह पुरस्कार 24वें वार्षिक क्रिस्टल पुरस्कार समारोह में भारत में बाल व महिला अधिकारों के लिए खड़े होने के लिए करने के लिए दिया गया. पुरस्करा ग्रहण के बाद दी गयी शाहरुख खान की स्पीच ने सबका दिल जीत लिया. उन्होंने कहा, ‘किसी की सेवा करना हमारी पसंद नहीं बल्कि हमारा काम है, जिसे हमें पूरा करना है.’ उन्होंने मंच से ही अपनी बहन, बेटी सुहाना और पत्नी गौरी खान को हमेशा साथ देने और प्रेरणा देने के लिए शुक्रिया अदा किया.

ये थी शाहरुख़ की स्पीच

पुरस्कार समारोह में शाहरुख ने कहा, ‘मैं अपनी बेटी, बहन और पत्नी को धन्यवाद कहना चाहता हूं. उन्होंने हमेशा मेरा साथ दिया और मुझे विनम्रता सिखाई. मुझे यहां सम्मानित करने के लिए मैं धन्यवाद कहना चाहता हू्ं, दावोस का… नमस्कार और जय हिंद.’  शाहरुख की स्पीच सुनकर उनके फैन्स की खुशी का ठिकाना नहीं आई. बता दें कि क्रिस्टल पुरस्कार दुनिया की हालत को सुधारने के लिए काम करने वाले कलाकारों को दिया जाता है. इस अवार्ड समारोह के साथ ही दावोस में विश्व आर्थिक मंच शिखर सम्मेलन की शुरुआत हुई.

अपने सेंस ऑफ़ ह्यूमर से सबका दिल जीता

शाहरुख खान ने हॉलीवुड अभिनेत्री केट ब्लैंचेट से इस समारोह के बीच ही सबके सामने एक सेल्फी खिंचवाने का आग्रह किया और इसके फौरन बाद ही उन्होंने होश्यारी से जवाब दिया कि इससे उनके बच्चों को शर्म महसूस हो सकती है. शाहरुख की इस हाजिर जवाबी पर दर्शकों ने खूब ठहाके लगाए. शाहरुख ब्लैंचेट और दिग्गज संगीतकार एल्टन जॉन के साथ विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) सम्मेलन में क्रिस्टल पुरस्कार प्राप्त करने के लिए मौजूद थे. पुरस्कार लेते हुए शाहरुख ने उनके साथ-साथ लाखों लोगों के दिलों पर राज करने को लेकर ब्लैंचेट की तारीफ की.

इसके अलावा शाहरुख खान ने अपने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर भी डाली जिसमें वह सफेद बर्फ के बीच अपने सिग्नेचर स्टाइल में हाथ फैलाए खड़े हुए नजर आ रहे हैं. इस तस्वीर पर शाहरुख ने बेहद ही प्यारा कैप्शन दिया. उन्होंने लिखा, ‘स्विट्जरलैंड में आकर ये ना किया तो क्या किया?… दावोस में आकर बहुत अच्छा लग रहा है.’