प्रधानमंत्री मोदी के 5 अप्रैल, रविवार को 9 मिनट अंधेरे में मोमबत्ती या दीया जलाने के पीछे का सच

प्रधानमंत्री मोदी
प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री मोदी के 5 अप्रैल, रविवार को 9 मिनट अंधेरे में मोमबत्ती या दीया जलाने के पीछे का सच

चीन से शुरू होकर लगभग पूरी दुनिया में फैला कोरोना वायरस मानव सभ्यता के लिए ही एक बड़ा खतरा बन चुका है. हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी ने 22 मार्च, को भी लोगों से जनत कर्फ्यू की अपील की तथा शाम को घर के द्वार पर या बालकनी से हमारे लिए दिन रात काम करने वाले स्वास्थकर्मियों और सुरक्षाकर्मियों को हौसला देने के ताली या थाली बजाने का अनुरोध किया था. लोगों ने इसका भरपूर सहयोग भी किया.

इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी जी ने अभी 5 अप्रैल, 2020 रविवार के दिन लोगों से रात को 9 बजे घर के सभी लाइट बंद कर घर के द्वार पर या बालकनी से 9 मिनट तक मोमबत्ती या दीया जलाने का अनुरोध किया है. हो सकता है कुछ लोग इसका विरोध करें. हम इसके पीछे का सच जानते हैं.

प्रधानमंत्री मोदी के 5 अप्रैल

सबसे जरूरी बात ये है कि अभी हमारे देश काफी जनसंख्या अनपढ़ है या इस बीमारी के बारे में जानकारी नहीं है. अगर प्रशासन इस तरफ ध्यान दिलाए या जागरूक करें उससे ज्यादा इस तरह के सामूहिक क्रियाकलापों जैसे थाली बजाकर स्वास्थकर्मियों का हौसला बढ़ाना या मोमबत्ती या दीया जलाना के कारण लोगों ध्यान लगातार इस तरफ जाएगा तथा वो इसकी गंभीरता को समझते हुए सरकार के दिए निर्देशों का पालन करेंगें.

9 मिनट अंधेरे में मोमबत्ती या दीया

ऐसा करने से कोरोना वायरस तो दूर नही होगा , लेकिन अगर मनोवैज्ञानिक तौर इसका सबसे बड़ा फायदा देखें तो काफी समय से लाकॅडउन के कारण लोग अपने घरों में हैं. जब इंसान अकेला रहता है और वो भी एक महामारी के भय में तो नकारात्मकता उस पर हावी हो जाती है. अगर एक स्वस्थ इंसान भी घर में बैठा रहें , तो बिना उत्साह के और नकारात्मकता के कारण वह भी बीमार हो सकता है.

हम सभी यदि एक साथ सभी 9 मिनट अंधेरे में मोमबत्ती या दीया जलाएंगें. तो उससे अहसास होगा कि जितनी दूर तक हम देख पा रहे हैं, ना सिर्फ हम सभी इस बीमारी से देश का आजाद कराना चाहते हैं. इससे सकारात्मकता और नया जोश आएगा.

यह भी पढे़ं: जानें मोदी जी द्वारा लगाए गए लॉकडाउन का क्या उद्देश्य है

इससे पूरे राष्ट्र मे एकता दिखेगी. जिससे जो भी सरकार इस बीमारी से लड़ने के लिए दिशा-निर्देश जारी करेगी हम और सख्ती से उनका पालन करेगें ताकि भारत विश्व में इस बीमारी से उभरकर एक मिशाल कायम कर सके कि पूरे देश की एकता और उत्साह के साथ हम अपनी समस्याओं से लड़ सकते हैं.

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.