ये देखिये प्यार की ताकत, सात समंदर पार से प्रेमी से मिलने पहुंची प्रेमिका…

कुशीनगर: सात समंदर पार मैं तेरे पीछे-पीछे आ गई…ये गाना इस खबर में सच में दिखता हैं। यह गाना बांग्लादेश की एक युवती पर सटीक बैठता हैं जो जॉर्डन देश में साथ काम करने वाले यूपी के कुशीनगर हाटा क्षेत्र के युवक के प्यार में ढूढ़ते ढूढ़ते उसके गांव आ गई।

बृजेश व रोक्साना की दोस्ती हुई जो आगे चलकर प्यार में बदल गई

कोतवाली क्षेत्र के डूमरी स्वागीपट्टी निवासी बृजेश गुप्ता पुत्र सुखदेव उम्र 32 जॉर्डन की  फैक्टरी में प्लम्बर का काम करता था। उसी कंपनी में बांग्लादेश के ढाका की रहने वाली रोक्साना अख्तर पुत्री अब्दुल रज्जाक भी काम करती थी। चार बर्ष पूर्व विदेश गये बृजेश व रोक्साना की दोस्ती हुई जो आगे चलकर प्यार में बदल गई। जॉर्डन में दोनों साथ रहने लगे। कुछ महिनों की छुट्टी लेकर बृजेश अपने गांव आया। जब फोन पर बातचीत बन्द हो गयी तो विदेशी प्रेमिका पासपोर्ट के पते के आधार पर लखनऊ पुलिस के साथ रविवार देर रात हाटा कोतवाली पहुंची।

विदेशी युवती के इस तरह अचानक पहुंचने पर पुलिस महकमा हैरान रह गया। स्थानीय पुलिस ने डूमरी स्वागीपट्टी पहुंच प्रेमी के परिजनों को थाने लाई बाद में प्रेमी भी थाने पहुंचा। घंटो तक प्रेमी प्रेमिका के रूठने मनाने का क्रम चलता रहा। बाद में प्रेमी ने स्वीकारा अगर पुलिस ने कोई मुश्किल नहीं खड़ी की तो वह शादी करने के बाद ही जॉर्डन जाएगा। कोई समस्या आने पर दोनों जॉर्डन जाकर शादी करेंगे।

बांग्लादेश की युवती जॉर्डन में काम करती है

विदेशी युवती के आने की सूचना रविवार देर रात पुलिस तक पहुंची। कोतवाली प्रभारी गजेन्द्र राय ने इसकी जानकारी उच्चाधिकारीयों को दी।  इस दौरान रक्साना का टूरिस्ट वीजा व अन्य कागजात देखे गये और एलआईयू को जानकारी दी। एलआईयू की तरफ से वीजा वैध बताए जाने पर दोनो को सोमवार दोपहर बाद लखनऊ पुलिस साथ ले गयी। बांग्लादेश की युवती जॉर्डन में काम करती है। वह टूरिस्ट वीजा और पासपोर्ट के साथ भारत आई है।