कोरोना वायरस के कहर में पैसों की अकड़ में इंसानियत खत्म !

social media
social media

जहां पूरा देश कोरोना वायरस के कहर के कारण अपने घरो में कैद है। जहाँ सरकार द्वारा अपने देशवासियो को कोरोना के प्रकोप से बचाने के लिए सम्पूर्ण देश में लॉक डाउन के निर्देश दे दिए गए हैं। सरकार, पुलिस , मीडियाकर्मी ओर यहाँ तक की भगवान माने जाने वाले डॉक्टर्स लगातार देश के नागरिको से अपील कर रहे हैं की कोरोना वायरस से अगर खुद को बचाना है अपने परिवार , घर को सुरक्षित रखना है तो लॉक डाउन का समर्थन करे ओर इसे गंभीरता से ले , बेवजह बाहर निकलने की कोशिश न करे।

ये आपके साथ -साथ पूरे देश भर के लिए घातक हो सकता है। जहां बहुत से ऐसे लोग है जो लॉक डाउन का समर्थन कर आपने घरो में कोरोना वायरस के प्रकोप को कम करने में सरकार का सहयोग कर रहे है विहि कुछ ऐसे चंद लोग भी है जो लॉक डाउन के प्रति गैरज़िम्मेवारा बर्ताव दिखा रहे है। देखिये इस वीडियो में की कैसे एक शिक्षित महिला कोरोना वायरस की गंभीरता को नहीं समझ रही।

तो देखा अपने जहां सरकार द्वारा कोरोना वायरस से लड़ने की मुहीम चल रही है , जहां इस वक़्त पूरा देश एक -दूसरे के बारे में सोच रहा है। , अपनी जान को जोखिम में डालकर कर हमारे डॉक्टर्स , पुलिस कर्मी , देश के नागरिकों के लिए तट पर खड़े है वही , यह महिला अपने घर में काम करने वाले स्टाफ की परवाह न कर , यह सोच रही है की उनके घर का काम कैसे होगा |

यह स्वार्थ की सीमा लांघना नहीं तो क्या है , जिसके सामने किसी का जान का मोल नहीं। ऐसे लोग बेशक तोर पर हमारे देश के लिए कलंक है। यह देश हमारा है इससे बचाने का कर्तव्य भी हमारा है।

यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस शरीर में जाने के बाद क्या-क्या करता है उसके क्या प्रभाव होते हैं ?