परिवार पहचान पत्र क्या है और क्यों जरूरी है ?

0
636
परिवार पहचान पत्र
परिवार पहचान पत्र

परिवार पहचान पत्र को हम Parivar Pehchan Patra (PPP) के नाम से भी जानते हैं. जैसा की नाम से ही स्पष्ट होता है कि परिवार का पहचान पत्र है. जिस तरह से आधार कार्ड होता है. जो एक व्यक्ति का पहचान पत्र होता है. ठीक इसी तरह परिवार पहचान पत्र पूरे परिवार का पहचान पत्र होता है. इसके लिए आपके पूरे परिवार का डाटा एकत्रित किया जाता है. इसके लिए आपके पूरे परिवार के सदस्यों के पास आधार कार्ड होना जरूरी होता है.

यह योजना अभी तक हरियाणा सरकार के द्वारा लागू की गई है. अगर इस योजना के लागू करने के उद्देश्य की बात करें, तो यह अधिकारियों के काम को बहुत हद तक आसान तथा पारदर्शी बना देगी. इससे अधिकारियों के पास पूरे परिवार का डाटा रहेगा तथा उनको पता रहेगा कि इस परिवार के किस सदस्य को कौन सी सरकारी योजना का लाभ मिल रहा है. ताकि जो सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के योग्य है, सिर्फ उन्हीं को लाभ मिलें.

परिवार पहचान पत्र

अगर बात करें कि क्या परिवार पहचान पत्र जरूरी है, तो आपको बता दें कि हरियाणा में सरकारी योजनाओं का आप लाभ लेना चाहते हैं, तो उनमें आपसे पहले परिवार पहचान पत्र मांगा जाता है. उदाहरण के तौर पर हरियाणा में यदि कोई वृद्ध पैंशन लेता है या दूसरी किसी भी तरह की पैंशन लेता है, तो उसके लिए आपके पास परिवार पहचान पत्र होना जरूरी कर दिया गया है.

परिवार पहचान पत्र

परिवार पहचान पत्र बनने के बाद उसमें कुछ त्रुटि रह जाती है, तो आप इसको बाद में अपडेट भी करा सकते हैं. इसके साथ ही जब आप परिवार पहचान पत्र बनवाते हैं, तो इसके लिए सबसे जरूरी डाक्यूमेट में आपके पास आधार कार्ड होना सबसे जरूरी है. इसमें पूरे परिवार के आधारकार्ड की डिटेल्स दर्ज की जाती हैं.

यह भी पढ़ें: जानिए क्या है प्रधानमंत्री कुसुम योजना?

परिवार पहचान पत्र हरियाणा सरकार की एक महत्वकांक्षी योजना है. जिसके कारण सरकारी योजनाओं के फर्जी लाभार्थियों का आसानी पकड़ा जा सकता है. जिसके बहुत दूरगामी प्रभाव होने की संभावना है. अगर आप हरियाणा में रहते हैं तथा सरकारी योजनाओं का लाभ लेना चाहते हैं, तो अपना परिवार पहचान पत्र बनवा लिजिएगा.