क्या है कोरोना को हराने के लिए दिल्ली सरकार का ‘5 T Plan’

breaking news
क्या है कोरोना को हराने के लिए दिल्ली सरकार का '5 T Plan'

क्या है कोरोना को हराने के लिए दिल्ली सरकार का ‘5 T Plan’

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना से युद्ध के लिए 5 टी योजना शुरू की है। दिल्ली में कोरोना के प्रसार के दौरान, दिल्ली की तैयारी क्या होगी, इस योजना के आधार पर निर्णय लिया जाएगा। सीएम केजरीवाल ने एक ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा है कि अगर दिल्ली में कोरोना के मरीज 30 हजार तक बढ़ जाते हैं, तो भी हम 5T योजना के तहत इसकी तैयारी कर रहे हैं।

केजरीवाल सरकार के इस 5 टी प्लान में टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, टीम वर्क और ट्रैकिंग एंड मॉनिटरिंग शामिल हैं। आइए आपको विस्तार से इन शब्दों का अर्थ और किस प्रकार से इनका क्रियान्वयन किया जाएगा उसके बारे में बताते हैं।

टेस्टिंग
जिन देशों ने टेस्टिंग नहीं की वो कोरोना को नियंत्रित नहीं कर सके। साउथ कोरिया ने टेस्टिंग कर करके कोरोना को मात दी। बिना टेस्टिंग के पता नहीं चलेगा कौन संक्रमित है और कौन नहीं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 1 लाख रैपिड टैस्ट किट का ऑर्डर कर दिय है।

जिन इलाकों में कोरोना के ज्यादा केस होंगे उन्हें हॉटस्पॉट घोषित कर दिया जाएगा और इन इलाकों में जैसे निजामुद्दीन और दिलशाद गार्डन में अधिक केस मिले हैं यहां रैंडम टेस्ट कराए जाएंगे।

what is 5T Plan
ट्रेसिंग

एक संक्रमित व्यक्ति किस-किस के संपर्क में आया है इसका पता लगाया जाएगा। इसके बाद उन्हें क्वारंटाइन किया जाएगा।केजरीवाल ने बताया कि इस काम के लिए पुलिस की मदद भी लेनी शुरू कर दी है। 27,702 लोगों के नंबर पुलिरस को दिए हैं जिन्हें होम क्वारंटाइन किया गया है।

पुलिस को मॉनिटरिंग के लिए मरकज के लोग 2000 लोगों के फोन नंबर भी दिए जाएंगे जिससे ये पता लग सके कि वो कहीं आसपास के इलकों में तो नहीं घूमे थे।

ट्रीटमेंट

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में 525 कोरोना के पॉजिटिव केस हैं। दिल्ली में हमने 3000 हजार बैड्स की क्षमता तैयार कर ली है। LNJP अस्पताल को कोरोना अस्पताल बना दिया गया है यहां अब सिर्फ कोरोना के महीजों का इलाज होता है। वहीं जीबी पंत अस्पताल में 500 बेड कोरोना मरीजों के लिए रिर्जव हैं |राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताव में 400 बेड रिजर्व हैं। दिल्ली सरकार ने सरकारी अस्पतलाों के 2450 बेड कोरोना के लिए और 400 बेड प्राइवेट अस्पतालों रिर्जव कर लिए हैं। कुल मिलाकर अभी दिल्ली में 2950 बेड की क्षमता है।

सीएम ने कहा कि इस प्लान के तहत हम दिल्ली को 30 हजार मरीजों के लिए तैयार करेंगे। 3 हजार से अधिक मरीजों की संख्या होने पर अन्य अस्पतलों , होटलों, धर्मशालाओं यहां तक की बेंक्वेट हॉल को भी अधिग्रहित कर लिया जाएगा। गंभीर स्थिति में जो लोग होंगे उन्हें अस्पतला में रखा जाएगा बाकी लोगों को अन्य स्थानों पर लेकिन वहां भी स्वास्थ्य सुविधाओं की कोई कमी नहीं होगी।

30,000 एक्टिव मरीज अगर दिल्ली में कभी हुए तो उसकी प्लानिंग की है। 8 हज़ार हॉस्पिटल बेड, 12 होटलों के कमरे अधिग्रहित करेंगे।10 हजार मरीज़ धर्मशाला और बैंक्वेट हॉल में रहेंगे ,30 हजार मरीज होने पर 400 वेंटीलेटर की ज़रूरत पड़ेगी।

5t Plan for coronavirus
टीम वर्क

सीएम केजरीवाल ने कहा कि सारी सरकारें टीम की तरह काम कर रही हैं। राज्य सरकारों को मिलकर काम करना होगा। डॉक्टरर्स और नर्स को बचाना है। पैसे वाले लोग मदद के लिए आगे आ रहे हैं। पक्ष-विपक्ष मिलकर काम कर रहे हैं।

कोरोना से जंग के लिए मैं दिल्ली के सांसदों के साथ बात करूंगा और उनके क्या विचार हैं और क्या राय हैं उनको भी जानेंगे।

यह भी पढ़ें : जानें क्या लॉकडाउन का समय और आगे बढ़ सकता है

ट्रैकिंग एंड मॉनिटरिंग

केजरीवाल ने कहा कि इसकी जिम्मेदारी मेरी है। पूरे प्लान को देखने की जिम्मेदारी मेरी है। कोरोना से जंग के लिए जो भी प्लान तैयार किया गया है उसका क्रियान्वयन कैसे हो रहा है ये सारी तैयारी मैं देखूंगा। सीएम केजरीवाल ने कहा कि कोरोना से जंग जीतने के लिए हमें उससे तीन कदम आगे रहना होगा

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.