अगर 16 साल से कम उम्र के व्हाट्सऐप यूज़र हैं तो सावधान हो जाइए!

पिछले कुछ दिनों में सोशल मीडिया ने आम आदमी की ज़िंदगी पर खासा प्रभाव डाला है। कोई भी साधारण व्यक्ति सोशल मीडिया के ज़रिये मिली जानकारी पर न सिर्फ खुद भरोसा करता है बल्कि अपने करीबियों पर भी इस बात के लिए दबाव डालता है। सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स में सबसे ज़्यादा लोकप्रिय प्लेटफार्म है व्हाट्सऐप और फेसबुक। इन दोनों में भी व्हाट्सऐप का वर्चस्व कुछ ज्यादा है क्यूंकि ये आसानी से इस्तेमाल करने लायक है। लेकिन अब व्हाट्सऐप के निर्माताओं ने इसके उपभोक्ताओं पर लगाम कसने की ठानी है।

अगर आप 16 साल से कम उम्र के WhatsApp यूज़र हैं तो ये खबर आपके लिए है। या यूं कहें कि ये बुरी खबर आपके लिए है। दरअसल एक नए नियम के मुताबिक अब 16 साल से कम उम्र के लोग व्हाट्सऐप का इस्तेमाल नही कर पाएंगे। हालांकि राहत की बात ये है कि अगर आप भारत में रह रहे हैं तो आपको अभी परेशान होने की ज़रूरत नहीं है। प्राथमिक तौर पर यह नियम केवल यूरोप के लिए लागू किया गया है ना कि पूरी दुनिया के यूज़र्स के लिए।

जानकारी के मुताबिक आगामी 25 मई से यूरोप में डाटा प्राइवेसी को लेकर नया निमय लागू होने जा रहा है। व्हाट्सऐप ने इस नियम के मद्देनज़र यह फैसला लिया है। व्हाट्सऐप ने इसकी जानकारी अपने ब्लॉग पोस्ट में दी है। बता दें कि अभी तक व्हाट्सऐप इस्तेमाल करने की उम्र 13 साल है।

आयुसीमा के इस नियम को लागू करने के लिए फेसबुक के स्वामित्व वाला व्हाट्सऐप 25 मई से पहले अपने यूज़र्स से उम्र की पुष्टि करने को कहेगा। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं है कि व्हाट्सऐप उम्र की पुष्टि कैसे करेगा?  लेकिन ये तय है कि नया नियम अगले कुछ सप्ताहों में लागू हो जाएगा।

बता दें कि यूरोप में 25 मई 2018 से जेनरल डाटा प्रोटेक्शन रेग्युलेशन (GDPR) लागू हो रहा है जिसके बाद सभी कंपनियों को बताना होगा कि वे यूजर्स का कौन-कौन सा डाटा ले रही है और उसका कैसे इस्तेमाल कर रही हैं। वहीं यूजर्स के पास अपना डाटा डिलीट करने का भी विकल्प होगा।

दूसरी तरह ये कहना भी गलत नही होगा कि जल्द ही ये नियम भारत में भी लागू हो सकता है। क्यूंकि यहाँ भी डाटा प्राइवेसी और डाटा लीक को लेकर को कई समस्याएं हैं। ज़ाहिर है कि किसी भी माध्यम से मिली सूचना की पुष्टि ज़रूरी है और ये भी ज़रूरी है कि वो सूचना दे कौन रहा है।