रामायण में भगवान राम के इस झूठ को अभी तक आप नहीं पकड़ पाए होंगे

रामायण में भगवान राम के इस झूठ को अभी तक आप रामायण में भगवान राम के इस झूठ को अभी तक आप नहीं पकड़ पाए होंगे !नहीं पकड़ पाए होंगे !
रामायण में भगवान राम के इस झूठ को अभी तक आप नहीं पकड़ पाए होंगे !

रामायण में भगवान राम के इस झूठ को अभी तक आप नहीं पकड़ पाए होंगे !

हिन्दू धर्म में राम भगवान सबसे पूज्ये देवों में माने गए है। हिन्दू धर्म के चार आधार स्तंभों में से एक है , भगवान राम को हिन्दू धर्म में एक मिसाल के तोर पर देखा जाता है और समाज के हर एक पुरुष को भगवान राम के आदर्शों को अपनाने के लिए कहा जाता है।

भगवान श्री राम ने एक आदर्श चरित्र प्रस्तुत कर समाज को एक सूत्र में बांधा था। भगवान राम अपने व्यक्तित्व मर्यादा, नैतिकता, विनम्रता, करूणा, क्षमा, धैर्य, त्याग तथा पराक्रम का सर्वोत्तम उदाहरण माना जाता है .

रामायण में भगवान राम
रामायण में भगवान राम

वैसे तो आप सभी ने संस्कृत महाकाव्य रामायण के जरिये राम के संदर्भ में हर कथा से अवगत होंगे लेकिन क्या आपको पता है , राम से जोड़े ऐसे बहुत से किस्से है जिनसे आप जानकार भी अवगत नहीं होंगे या अपने उन चीज़ों को अनदेखा करदिया होगा , सत्यता का उदाहरण माने जाने वाले भगवान ने भी झूठ बोला था ,


श्रीराम का जीवनकाल एवं पराक्रम, महर्षि वाल्मिकी द्वारा रचित संस्कृत महाकाव्य रामायण के रूप में वर्णित हुआ है. मान्यता के अनुसार गोस्वामी तुलसीदास ने भी उनके जीवन पर केन्द्रित भक्तिभावपूर्ण सुप्रसिद्ध महाकाव्य रामचरितमानस की रचना की है और आदर्श पुरुष हैं.


इन्हें पुरुषोत्तम शब्द से भी अलंकृत किया जाता है. मर्यादा-पुरुषोत्तम राम, अयोध्या के राजा दशरथ और रानी कौशल्या के सबसे बड़े पुत्र थे. राम की पत्नी का नाम सीता था.

इनके तीन भाई थे- लक्ष्मण , भरत और शत्रुघ्न. हनुमान राम के, सबसे बड़े भक्त माने जाते हैं. लेकिन अब जानते हैं कि क्या भगवान श्रीरामचन्द्र ने भी कभी झूठ बोला था और कब बोला था. उस घटना का जिक्र करते हैं.

रामायण
रामायण

कब बोला झूठ भगवान राम जी ने

ऐसा बताया जाता है कि जब भगवान श्रीरामचन्द्र 14 वर्ष का वनवास काटनें के लिए गए थे. उस समय उनके पास सुर्पनखा आती है और बोलती है कि राम मुझे तुमसे शादी करनी है. जिस पर राम ने कहा कि मैं तुमसे शादी नहीं कर सकता हूँ, क्योंकि मेरी शादी हो चुकी है.

यह भी पढ़ें : हनुमान जी ने तोता का रूप कब धारण किया था !


तुम ऐसा करो मेरे भाई लक्ष्णण से बात करो वो तुमसे शादी कर सकता है. लक्ष्मण अभी तक कँवारा है. यही राम ने झूठ बोला था क्योंकि लक्ष्मण की शादी हो चुकी थी.

आपको बता दें कि लक्ष्मण की पत्नि का नाम उर्मिला था. उपरोक्त मान्यता के आधार पर हम कह सकते है कि भगवान रामचंद्र ने सुर्पनखा के सामने झूठ बोला था कि लक्ष्मण की शादी नहीं हुई है.