अवैध संबंधों को छुपाने के लिए सांप से कराई थी हत्या, ऐसे हुआ खुलासा

Rajasthan Crime News
Rajasthan Crime News

हम सबने हत्या के अजीबों-गरीब मामलें सुने होंगे। कोई गोली से हत्या कर देता है तो कोई चाकू या अन्य किसी हथियार से। इसके बाद लोग हत्या को छुपाने के लिए तरह तरह के तिकड़म अपनाते हैं। एक मामला जयपुर का है जहाँ पर हत्या ऐसे की गयी जिससे सभी हैरान है। आइये इस बारें में विस्तार से जानते है।

दरअसल यह हत्या किसी ने नहीं की। बल्कि इसे एक सांप द्वारा अंजाम दिया गया। यह घटना राजस्थान के झुंझुनू जिले के एक गाँव में घटी। दरअसल शादी के बाद अवैध संबंध को छुपाने के लिए एक महिला ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपनी सास की हत्या सांप से कटवाकर कर दी। लोगों ने समझा कि मौत सांप के काटने से हुई है।

कुछ दिनों बाद जब महिला के ससुराल वालों को उसकी हरकत पर शक हुआ तो जांच पड़ताल हुई। महिला और उसके प्रेमी की कॉल डिटेल निकलवाई गयी। जिससे पता चला कि हत्या हुई है और वो भी सांप के कटवाने पर।

जयपुर निवासी मनीष का अल्पना नाम की महिला से अवैध संबंध था। इसी मामलें में अल्पना, मनीष और उनके दोस्त कृष्ण कुमार को हाल ही में सुबोध देवी, जोकि अल्पना की सास थी, की हत्या के लिए गिरफ्तार किया गया है।

अल्पना और उसकी सास सुबोध देवी गाँव में एक साथ रहते थे। अल्पना के पति सचिन और उनके भाई चिरंतन भारतीय सेना में कार्यरत हैं। सुबोध देवी के पति राजेश अपनी नौकरी की वजह से घर से बाहर ही रहते थे।

सचिन और अल्पना की शादी 12 दिसंबर, 2018 को हुई थी।

जब उसका पति दूर था, तब अल्पना का मनीष के साथ अवैध संबंध हो गया। वे अक्सर फोन पर बाते करते थे। जब उसकी सास उसकी प्रेम कहानी में बाधक बनने लगी, तब अल्पना और उसके प्रेमी मनीष ने सुबोध देवी की हत्या इस तरह से करने की योजना बनाई, जिससे उनका पता नहीं चल सके।

2 जून 2019 को, उन्होंने सर्पदंश से सुबोध देवी की हत्या कर दी। हालांकि, उसकी मौत के डेढ़ महीने बाद अल्पना के ससुराल वालों को उस पर संदेह हुआ और उसने पुलिस शिकायत दर्ज की। उन्होंने कुछ ठोस सबूत भी दिए। परिवार ने पुलिस को अल्पना और मनीष के टेलीफोन नंबर दिए।

यह भी पढ़ें: जब ब्रह्मा पर क्रोधित हुए थे तब शिव ने लिया था काल भैरव का जन्म

2 जून को दो नंबरों के बीच 124 कॉल हुए और अल्पना और कृष्ण कुमार के बीच 19 कॉल किए गए। इन नंबरों के बीच कुछ संदेश भी साझा किए गए थे। पुलिस ने मामला पूरा कर लिया और सुबोध देवी की हत्या के लिए अल्पना, मनीष और उसके दोस्त कृष्ण कुमार को दोषी पाया और उन्हें 4 जनवरी, 2020 को गिरफ्तार कर लिया गया।